# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
ग्रीन टैक्स के विरोध में व्यापारी ट्रांसपोर्टर

देशमें एक जुलाई से जीएसटी लागू होने जा रहा है। इसको लेकर व्यापारी में खासी चर्चा है। जीएसटी की दरें पूरे देश में एक समान होगी। वहीं, जिले के व्यापारी और ट्रांसपोर्टर दिल्ली प्रवेश करने वाले डीजल वाहनों पर लगने वाले ग्रीन टैक्स के विरोध में आने लगे हैं।        दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिल्ली में बाहर से आने वाले डीजल वाहनों के प्रवेश पर ग्रीन टैक्स लगाया गया था। इस स्थिति में दिल्ली के बाहर के हरियाणा, पंजाब, हिमाचल दूसरे किसी भी राज्य से आने वाले वाहनों को लोड क्षमता के मुताबिक भुगतान करना होता है। 

दिल्लीमें लगने वाले ग्रीन टैक्स के विरोध में जिले की बीस से अधिक वाहन यूनियनें हैं। इनका कहना है कि ग्रीन टैक्स सीएनजी गाड़ियाें पर नहीं है, जबकि दूसरे वाहनों को इसके लिए भुगतान करना होता है। दिल्ली से बाहर सीएनजी पंप की संख्या पर्याप्त नहीं है। जिसके कारण वाहन चालक के लिए सीएनजी गाड़ियों रखना भी मुमकिन नहीं है।