# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
ग्रीन टैक्स के विरोध में व्यापारी ट्रांसपोर्टर

देशमें एक जुलाई से जीएसटी लागू होने जा रहा है। इसको लेकर व्यापारी में खासी चर्चा है। जीएसटी की दरें पूरे देश में एक समान होगी। वहीं, जिले के व्यापारी और ट्रांसपोर्टर दिल्ली प्रवेश करने वाले डीजल वाहनों पर लगने वाले ग्रीन टैक्स के विरोध में आने लगे हैं।        दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिल्ली में बाहर से आने वाले डीजल वाहनों के प्रवेश पर ग्रीन टैक्स लगाया गया था। इस स्थिति में दिल्ली के बाहर के हरियाणा, पंजाब, हिमाचल दूसरे किसी भी राज्य से आने वाले वाहनों को लोड क्षमता के मुताबिक भुगतान करना होता है। 

दिल्लीमें लगने वाले ग्रीन टैक्स के विरोध में जिले की बीस से अधिक वाहन यूनियनें हैं। इनका कहना है कि ग्रीन टैक्स सीएनजी गाड़ियाें पर नहीं है, जबकि दूसरे वाहनों को इसके लिए भुगतान करना होता है। दिल्ली से बाहर सीएनजी पंप की संख्या पर्याप्त नहीं है। जिसके कारण वाहन चालक के लिए सीएनजी गाड़ियों रखना भी मुमकिन नहीं है।