# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हिरासत में मौत पर पांच रिटायर्ड पुलिस अफसरों को सश्रम कारावास

पंचकूला। सीबीआइ अदालत ने एक व्यक्ति को अवैध रूप से हिरासत में रखने के आरोप में पांच रिटायर्ड पुलिस कर्मियों को दोषी ठहराया है। अदालत ने इन सभी को एक साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। मामला जींद जिले के सफीदों का है।

घटना में जींद के सफीदों में अप्रैल 2004 का है। सफीदों पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने विनोद कुमार उर्फ बावा को चेन स्नेचिंग मामले में हिरासत में लिया था। उसे पुलिस ने 24 घंटे तक अपनी हिरासत में रखा था। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश नहीं किया और बाद में छोड़ दिया था। इसके बाद उसकी हालत बिगड़ गई और पीजीआइ रोहतक ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई थी।

विनोद कुमार के भाई सुरेंद्र कुमार की याचिका पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने इस मामले को सीबीआइ को सौंप दिया था। बचाव पक्ष के वकील अभिषेक सिंह राणा ने कहा कि इस केस में सीबीआइ ने धारा 302 के तहत केस दर्ज किया था। विनोद कुमार की मौत के बाद पोस्टमार्टम में कुछ सामने नहीं आया।