News Description
क्रिसमय कैरोल की धुन बजने लगी चर्च में शुरू हुई क्रिसमस की तैयारी

गुरुग्राम: ईसा मसीह के जन्म का महीना दिसंबर शुरू होने के साथ शहर के चर्च में गतिविधियां बढ़ गई हैं। रविवार से शहर के विभिन्न चर्चो में विशेष कैरोल (ईसा मसीह के जन्म की खुशी में गाया जाने वाला गीत) शुरू हो जाएगा। चर्च से जुड़े लोग घर-घर जाकर कैरोल गीत गाने जाएंगे।

शहर के सबसे पुराने सिविल लाइंस स्थित नॉर्थ इंडियन चर्च चर्च ऑफ एपीफेनी में छह दिसंबर को सुबह 11 बजे वंचित परिवारों के साथ चर्च परिवार क्रिसमस मनाएंगे। उनके लिए कार्यक्रमों के आयोजन, उपहार और लंच के आयोजन इस मौके पर किए जाएंगे। चर्च की ओर से चलाए जाने वाले विशेष संडे स्कूल के बच्चे नौ दिसंबर को क्रिसमस आधारित नाटक नेटिविटी प्ले का मंचन करेंगे।

10 दिसंबर को बच्चों के लिए खेल कूद की प्रतियोगिताओं के आयोजन किए जाएंगे। 13 दिसंबर की शाम चर्च में कैंडिल लाइट सर्विस का कार्यक्रम छह बजे होगा। 15 दिसंबर शुक्रवार को शाम चार बजे नॉर्थ इंडियन चर्च से जुडे लोग दिल्ली के कनाट प्लेस में अमन का उत्सव मनाएंगे। गुरुग्राम से लोगों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। 17 दिसंबर को अंग्रेजी के अलावा अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में कैरोल गायन का कार्यक्रम होगा। यह कार्यक्रम फेलोशिप डिनर के साथ समापन होगा।

 
 

 

18 से 21 दिसंबर तक रोजाना शाम आठ बजे से रात 10 बजे तक कैरोल राउंड होगा। चर्च में जमा होकर लोग कैरोल गाएंगे। 2 दिसंबर को क्रिसमस बोन फायर और चर्च के युवाओं का द्वारा आयोजित कार्यक्रम रात आठ बजे से 10 बजे तक होंगे। 24 दिसंबर की रात मिड नाइट सर्विस और 25दिसंबर को क्रिसमस की विशेष मॉर्निंग सर्विस होगी। चर्च के प्रीस्ट रेवरन सुनील एस घजन ने बताया कि पिछले साल से हमलोगों ने चर्च का 150वां स्थापना वर्ष मनाया। इसका समापन इस साल होना है। चर्च से जुड़े संगठन भी क्रिसमस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

कैथोलिक चर्च न्यू कॉलोनी स्थित सेंट माइकेल चर्च और कन्हई स्थित चर्च ऑफ इमाकुलेट कंशेप्सन में भी क्रिसमस की तैयारियां जोर शोर से चल रही है। इनमें इस रविवार से क्रिसमस की गतिविधियां शुरू हो जाएगी। क्रिसमस के पहले के तीन रविवार को विशेष प्रार्थना सभाएं होंगी।