# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
जीवन में गीता ग्रंथ के सार को आत्मसात करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करें विद्यार्थी: डीसी

उपायुक्तडॉ. हरदीप सिंह ने छात्रों को आह्वान किया कि वे अपने जीवन में गीता ग्रंथ के सार को आत्मसात करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करें। गीता उम्र के हर पड़ाव पर एक नया अनुभव दिलाती है। उपायुक्त गुरुवार देर सांय पंचायत भवन में गीता महोत्सव के अंतिम दिन सांस्कृतिक संध्या एवं पारितोषिक वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उपायुक्त ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले छात्रों और स्कूलों को सम्मानित किया। इसके अलावा तीन दिन गीता महोत्सव के दौरान विभिन्न विभागों और संस्थाओं द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी के विभागाध्यक्षों पदाधिकारियों को श्रीमद्भगवत गीता भेंटकर सम्मानित किया। 

डॉ. हरदीप सिंह ने कहा कि छात्र अपने जीवन में माता-पिता को प्रणाम करने की प्रवृति डाले। माता-पिता को प्रणाम करना व्यक्ति के जीवन में ऊर्जा का संचार करवाता है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि आरएसएस के हिसार विभाग के कार्यवाह बजरंग गोदारा ने कहा कि गीता महोत्सव कार्यक्रम ने जिला के नागरिकों को एक अनूठा संदेश दिया है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने गीता के माध्यम से जो संदेश पूरी दुनिया को दिया, उसका सार यही है कि कर्तव्य से दूर नहीं भागकर, धर्म के रास्ते को छोड़कर आगे बढ़ना है। अति विशिष्ट आरएसएस के जिला कार्यवाह गुरबख्श मोंगा ने गीता ग्रंथ के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जिसने गीता के सार को नहीं समझा उसका जीवन ही व्यर्थ है। 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण, अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. जेके आभीर, पूर्व विधायक स्वतंत्र बाला चौधरी, एसडीएम देवीलाल सिहाग, सीईओ जिप डॉ. विनेश, डीआरओ बिजेंद्र भारद्वाज, डीडीपीओ राजेश खोथ, अधीक्षक अभियंता ओपी बिश्नोई, कार्यकारी अभियंता सतीश जनेवा, रामराज मेहता, रणबीर चौधरी, आत्म प्रकाश मेहता, पीसी शर्मा, संत कुमार एडवोकेट, डीडीएएच डॉ. काशी राम, जीएम डीआईसी गुरप्रताप सिंह, डीईओ दयानंद सिहाग, डीईईओ संगीता बिश्नोई, सीएमओ डॉ. मुनीष बंसल, जिला आयुष अधिकारी डॉ. धर्मपाल पूनिया, ईओ अमन ढांडा, रेडक्रॉस सचिव नरेश झाझड़ा आदि मौजूद थे।