# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
पटना के प्रॉपर्टी डीलर की हत्या

 फरीदाबाद : गांव बैरिया समपतचक पटना बिहार निवासी प्रॉपर्टी डीलर प्रवीण विश्वकर्मा (37 वर्ष) की दिल्ली बुलाकर हत्या कर दी गई। हत्यारों ने उसे दिल्ली बुलाया था। हत्यारे उसे अधमरी हालत में फरीदाबाद में सूरजकुंड-पाली रोड के पास झाड़ियों में फेंककर भाग गए थे। घायल अवस्था में उसने घर फोन कर सूचना दी। फोन से ही परिवार वालों को उसके साथ हुई घटना का पता चला। परिजन पुलिस को लेकर उसके पास पहुंचते, इससे पहले प्रवीण ने दम तोड़ दिया।

प्रवीण के पैर टूटे हुए हैं। परिवार वालों के अनुसार उसने फोन पर गोलियां मारे जाने की बात कही थी। पुलिस ने शव पोस्टमॉर्टम के लिए बादशाह खान अस्पताल में भिजवाया है। मौत का कारण पोस्टमॉर्टम के बाद पता चलेगा। हत्या का आरोप प्रवीण के पटना निवासी साथी वरुण ¨सह पर है। डेढ़ करोड़ रुपये का लेन-देन हत्या की वजह बताई जा रही है। सूरजकुंड थाना पुलिस ने प्रवीण के रिश्तेदार रंजीत ¨सह की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

रंजीत ¨सह ने बताया कि बहनोई प्रवीण विश्वकर्मा प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करते थे। पटना निवासी वरुण ¨सह नाम के व्यक्ति से उसने किसी को एक प्लॉट दिलाया था। इस प्लॉट के बदले वरुण ¨सह को डेढ़ करोड़ रुपये भुगतान किए गए थे, मगर अब वह प्लॉट की रजिस्ट्री नहीं करा रहा था। प्रवीण उससे लगातार रुपये वापस करने या रजिस्ट्री कराने के लिए दबाव डाल रहा था। 29 नवंबर की शाम वरुण ने प्रवीण को पेमेंट करने के बहाने दिल्ली बुलाया। उसकी हवाई जहाज की टिकट भी कराकर दी। दिल्ली एयरपोर्ट पर चार-पांच युवकों ने उसे बोलेरो कार में बिठा लिया। इसके बाद वे उसे फरीदाबाद की तरफ ले आए। कार में ही उसके साथ मारपीट की गई। उसके पैर तोड़ दिए गए। पसलियों में दो गोलियां मारकर उसे अधमरी हालत में सूरजकुंड-पाली रोड पर फेंककर भाग गए। उसका फोन चालू था। 30 नवंबर की तड़के उसने पटना में अपनी पत्नी संगीता को फोन करके सारी घटना के बारे में बताया। परिजनों ने फरीदाबाद पुलिस से संपर्क साधा। 11 बजे के बाद उसने फोन उठाना बंद कर दिया। 30 नवंबर की देर शाम पुलिस ने उसका शव बरामद किया।