# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
पीडीएमयू के फार्मेसी स्टूडेंट्स ने बालौर में रैली निकाल बताया दवाओं का महत्व

पीडीएमविश्वविद्यालय के औषधि विज्ञान विभाग के छात्रों ने 56वें राष्ट्रीय फार्मेसी सप्ताह के अंतर्गत दवाइयों के उचित उपयोग के महत्व को दर्शाने के लिए बालौर गांव में स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया। झज्जर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. रमेश धनकड़ मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। पीडीएम विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो. एके बख्शी विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए। फार्मेसी के छात्रों ने लैब कोट पहनकर विश्वविद्यालय के प्रांगण बालौर गांव में स्वयं इलाज से होने वाले नुकसान एवं प्रतिदिन स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता के लिये फार्मा रैली निकाली। 

200 ग्रामीणों के रक्तचाप ब्लड शूगर की जांच 

कार्यक्रमके मुख्य अतिथि सीएमओ डाॅ. रमेश धनकड़ ने छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि हरियाणा की मानुषी छिल्लर, कल्पना चावला साइना नेहवाल जैसी लड़कियों ने अपने परिश्रम से विश्वस्तर पर पहचान बनाई है, जो यह दर्शाता है कि अगर व्यक्ति कुछ करने की मन में ठान ले तो कोई भी मुकाम मुश्किल नहीं है। कैंप में डाॅ. कीर्ति मुंडे डा. अर्चना नागपाल ने लगभग 200 ग्रामीणों के रक्त चाप, ब्लड शूगर, नेत्र ज्योति निरीक्षण बीएमआई. जैसे सामान्य स्वास्थ्य से जुड़े चैकअप निशुल्क किये।