# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
जागरूकता व सही जानकारी ही एड्स का बचाव-सिविल सर्जन

नारनौल, 1 दिसंबर। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज नागरिक अस्पताल नारनौल में विश्व एड्स दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डा. दयानन्द बागडी मुख्यातिथि के रूप में मौजूद थे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला नोडल अधिकारी डा. अशोक कुमार ने की। 
कार्यक्रम के समापन पर डा. दयानन्द बागडी ने रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 
बागडी ने अपने संबोधन में बताया कि विश्व में एड्स के रोगियों की सख्या में भारत तीसरे स्थान पर है। हरियाणा में 29 हजार एड्स एचआईवी संक्रमित मरीज हैं, एवं जिले में 123 एड्स एचआईवी मरीज इलाज ले रहे है। उन्होंने बताया कि जागरुकता व सही जानकारी ही एड्स का बचाव है। इसका हमें ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करना चाहिए। टोल फ्री हैल्पलाईन नंबर 1097 पर कोई भी व्यक्ति एड्स के बारे में जानकारी ले सकता है। एड्स मुख्यत संक्रमित सुई, सिरिंज, संक्रमित मां से उसके बच्चे को, असुरक्षित यौन संबंध व संक्रमित रक्त के चढ़ाने से फैलता है।
इस अवसर पर स्पेशल कैंप लगाकर 67 पुरुष व महिला की एचआईवी जांच की गई। 
जिला नोडल अधिकारी (एड्स) डा. अशोक कुमार ने बताया कि जिले में चार आईसीटीसी केंद्र नागरिक अस्पताल नारनौल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अटेली, महेंद्रगढ़ और कनीना में व चार एफ.आईसीटीसी केंद्र जिला क्षयरोग केंद्र नारनौल व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नांगल चौधरी, प्राथमिक  स्वास्थ्य केंद्र सेहलंग, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सतनाली में सुचारू रूप से कार्य कर रहे हैं। 
उन्होंने बताया कि इन केंद्रों में कोई भी व्यक्ति अपना एचआईवी एड्स की जांच मुफ्त में करवा सकता है। सभी टीबी के मरीज व गर्भवती महिलाओं की जांच जरूरी कराई जाती है। जिले में एक लिंक्ड एआरटी सेंटर केंद्र नागरिक अस्पताल नारनौल में स्थापित किया हुआ है। इसमें एचआईवी एड्स के रोगियों को मुफ्त में दवाईयां दी जाती हैं। 1 दिसंबर 2017 से 15 दिसंबर तक जिले में सभी आशा वर्कर अपने-अपने एरिया में एड्स पर लोगों को जागरुक करेंगी।