# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ तीन दिवसीय गीता महोत्सव का समापन

नारनौल, 1 दिसंबर। तीन दिवसीय जिला स्तरीय गीता महोत्सव वीरवार सायं रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ संपन्न हुआ। नारनौल के विधायक ओमप्रकाश यादव समापन समारोह में मुख्यातिथि के तौर पर मौजूद थे।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि हरियाणा की धरा पर भगवान ने स्वयं गीता का उपदेश दिया। मनुष्य व समाज को किस प्रकार जीवन व्यतीत करना चाहिए, ये सभी नियम इस महान ग्रंथ में हैं। 
सरकार का मकसद है कि इस महोत्सव से सभी नागरिक गीता में दिए उन संदेशों को समझकर व्यक्ति व समाज निर्माण में योगदान दें। उन्होंने कहा कि परमाणु बम के हमले में जापान पूरी तरह से बर्बाद हो गया था लेकिन जापान के नागरिकों ने गीता के कर्म के संदेश को सर्वोपरि मानते हुए मेहनत की और विश्व में पहचान बनाई। गीता के कर्म के संदेश को हम सही मायने में अभी तक नहीं समझ पाए हैं। हमें जन-जन तक इस संदेश को पहुंचाना होगा ताकि भारत फिर से विश्व गुरू का दर्जा हासिल कर सके।
श्री यादव ने कहा कि इस ग्रंथ को सिर्फ धार्मिक भावना के साथ ही न जोड़ें इसके हर संदेश में विज्ञान छिपा है। यह एक ऐसा ग्रंथ हो जो युद्धभूमि में रखा गया। दुनिया का कोई ऐसा ग्रंथ नहीं जो इतना गूढ़ रहस्य लिए हो।
कार्यक्रम में राकेश बरानिया एंड पार्टी तथा कुलदीप एंड पार्टी ने रागनियों, चुटकलों व नृत्य की प्रस्तुतियों से दर्शकों का मनोरंजन किया। 
महोत्सव की समाप्ति पर खंड स्तरीय व जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया।