News Description
कैप्टन अभिमन्यु के इशारे पर कुछ लोग समाज को कर रहे गुमराह : यशपाल मलिक

जींद : अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि तीन दिसंबर को जसिया में समिति की राष्ट्रीय व प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक जसिया में होगी। इसमें आरक्षण आंदोलन को लेकर बड़ा फैसला लिया जाएगा। साथ ही इसमें प्रदेश के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु व बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला का सामाजिक बहिष्कार करने पर भी निर्णय लिया जाएगा।

मलिक बुधवार को जींद में गोहाना रोड पर बाइक एजेंसी पर पहुंचे थे। यह बाइक एजेंसी केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र ¨सह के नजदीकी सोमबीर पहलवान की है। यहां पत्रकारों से बातचीत में यशपाल मलिक ने कहा कि 26 नवंबर की जसिया रैली को फ्लॉप करने के लिए प्रदेश सरकार ने इंटरनेट सेवा बंद कर व धारा 144 लागू कर लोगों में भय का माहौल बनाने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने जिस मकसद के साथ रैली की थी, वह सफल रही। कैप्टन अभिमन्यु पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके इशारे पर कुछ लोगों ने पैसों के लालच में समाज को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। आरक्षण आंदोलन के दौरान जेलों में बंद 320 में 315 लोग बाहर आ चुके हैं और केवल पांच बचते हैं, जो कैप्टन अभिमन्यु द्वारा किए गए केस में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के इशारे पर राजकुमार सैनी समाज को तोड़ने का काम कर रहे हैं। केंद्र सरकार जल्द ही संसद में बिल पास कर आयोग बनाएगी, जिसके बाद जाटों को भी जल्द ही केंद्र में आरक्षण मिलने का रास्ता खुल जाएगा। वहीं हरियाणा सरकार प्रदेश में आरक्षण को लेकर गुमराह का रही है। आर्थिक आधार पर जो सर्वे गांवों में होना चाहिए था, वह सरकारी विभागों में किया जा रहा है। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव अशोक बल्हारा, जिला प्रधान कैप्टन भूपेंद्र, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य कैप्टन रणधीर चहल, विजेंद्र संधु, रामकरण दलाल, सत्यवान ईक्कस मौजूद रहे।