News Description
श्लोकों और रथ यात्रा के साथ गीता महोत्सव संपन्न

 गुरुग्राम: कुरुक्षेत्र में भगवान श्रीकृष्ण ने मार्गशीर्ष माह की एकादशी तिथि को उन्होंने अर्जुन को गीता का ज्ञान दिया था। इसलिए इस दिन गीता जयंती मनाई जाती है। बृहस्पतिवार को स्वतंत्रता सेना भवन में पिछले दो दिनों से चल रहे अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के समापन समारोह में गीता में वर्णित कर्तव्यनिष्ठा, शांति और सद्भाव की वैश्विक प्रेरणा देने वाले 18 श्लोकों का समवेत पाठ किया गया।

कार्यक्रम में गीता मर्मज्ञों, पंडितों और संगठन प्रतिनिधियों के साथ सोहना के विधायक तेजपाल तंवर, उपायुक्त विनय प्रताप ¨सह, एडीसी कार्यालय के प्रोजेक्ट अफसर राजेश गुप्ता समेत कई प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। हॉल में सबने एक साथ कुरुक्षेत्र समवेता युयुम्सव: मामका पांडवाश्चैव किम कुवंत संजय-.. गीता के प्रथम अध्याय के पहले श्लोक के साथ श्लोक पाठ शुरू हुआ। इसके बाद दूसरे अध्याय का सबसे लोकप्रिय श्लोक कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन . से शुरू होकर अठारहवें अध्याय के 78 वें श्लोक यानी गीता के अंतिम श्लोक यत्र योगेश्वर: कृष्णों यत्र पार्थो धनुर्धर:।

तत्र श्रीर्विजयो भूतिध्र्रुवा नीतिर्मतिर्मम।।

(अर्थात जहां योगेश्वर श्रीकृष्ण हैं और जहां गांडीव धनुर्धारी अर्जुन है, वहीं पर श्री, विजय, विभूति और धर्म है) के साथ समाप्त हुई। इस्कॉन से जुड़े कई गीता मनीषी, शीतला माता श्राइन बोर्ड के सदस्य पं. अमरचंद भारद्वाज, शीतला माता मंदिर स्थित श्रृंगेरी वेद पाठशाला के छात्रों ने भी इस पाठ में हिस्सा लिया। इसमें कर्तव्यनिष्ठा, शांति और सद्भाव की वैश्विक प्रेरणा देने वाले श्लोक शामिल किए गए थे।

सोहना के विधायक तेजपाल तंवर ने पूजन कर रथ यात्रा को रवाना किया। उनके साथ उपायुक्त विनय प्रताप ¨सह भी मौजूद थे। उन्होंने लोगों के बीच प्रसाद वितरण भी किया। रथ यात्रा में रथों में गीता के श्लोक, गीता ज्ञान की झांकियों के अलावा राधा कृष्ण की झांकियां शामिल की गई थी। रथ यात्रा में इस्कॉन, चार आठ मरला श्री सनातन धर्म सभा, गीता भवन समेत कई धार्मिक संगठनों की झांकियां शामिल हुई। रथ यात्रा शहर की विभिन्न सड़कों से गुजरी। पूरे रास्ते हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे-हरे .के भजन गाते इस्कॉन के भक्त और म्यूजिक की टीम शामिल रही।

योगाचार्य ने सिखाए योगासन: प्रदर्शनी स्थल पर आयुष विभाग के योगाचार्य भूदेव ने सर्दी के मौसम में स्वास्थ्य की देखभाल से संबंधित योगासन और खान-पान के टिप्स दिए। उन्होंने कार्यक्रम में आई महिलाओं को मोटापे, कोलेस्ट्रॉल से मुक्ति के लिए आसन सिखाए। उष्टासन, अनुलोम विलोम, नाभि संचालन सिखाया।