News Description
दिल्ली-एनसीआर के लोगों को स्वस्थ बनाएगा हरियाणा: धनखड़

दिल्ली और एनसीआर के चार करोड़ लोगों के स्वास्थ्य की ¨चता हरियाणा कर रहा है। हमारा प्रयास है कि दिल्ली के हर घर के नाश्ते से लेकर से लेकर डिनर टेबल तक हमारे ताजा उत्पाद पहुंचे। यह कहना है हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ का। यहां पेरी अर्बन एग्रीकल्चर की दो दिवसीय कार्यशाला के दौरान पत्रकारों से बातचीत में एक सवाल के जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि हरियाणा के किसी भी हिस्से से हम दिल्ली को ताजा दूध निकालकर बिना किसी प्रोसेस के ताजा ही पहुंचा सकते हैं।

धनखड़ ने कहा कि हर रोज 10 से 15 हजार मीट्रिक टन फल दिल्ली की मंडी में आता है। यहां के किसानों को हम अपने उत्पाद उगाने से लेकर बेचने तक का काम सीधे करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य पेरी अर्बन एग्रीकल्चर की अवधारणा को स्पष्ट करते हुए ऐसे विषयों पर पर चर्चा करना है, जिससे किसान हित में कानून बनें।

लोकेशन हरियाणा की बड़ी ताकत: कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने कहा कि हरियाणा की भौगोलिक स्थिति ऐसी है, जो तीन तरफ से दिल्ली को घेरता है, इसलिए हरियाणा का किसान यहां सबसे पहले मछली, ताजा दूध, सब्जी, फल फूल सबसे पहले पहुंचा सकता है। हरियाणा को इसका फायदा है। उन्होंने कहा कि सड़क और रेलमार्ग से भी अच्छे से जुड़ा है, जिसका फायदा दिल्ली और हरियाणा दोनों का है।

100 करोड़ का बाजार है दिल्ली एनसीआर: धनखड़ ने कहा कि हरियाणा छोटा राज्य है और यहां का किसान मेहनती है। दिल्ली एनसीआर के चार करोड़ लोग रोजाना खाद्य उत्पादों पर करीब 100 करोड़ रुपये खर्च करते हैं। यदि हम दिल्ली को तीन तरफ से घेरे हैं तो इस लिहाज से हम 75 करोड़ रोजाना यानी 27 हजार करोड़ सालाना कमा सकते हैं। इससे हमारा किसान खुशहाल होगा और दिल्ली को ताजा और स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद मिल सकेगा।

स्मार्ट टेक्नोलॉजी बनेगी मददगार: धनखड़ ने कहा कि स्मार्ट तकनीक का जमाना है। हमारे अग्रणी किसान अपने उत्पाद को सीधे अपने फोन से अनेक तरह की तकनीक से एक दूसरे जोड़कर सीधे उपभोक्ता अपने उत्पाद के बारे में बता सकेंगे। धनखड़ ने कहा कि हमारा प्रयास किसान की आय को बढ़ाने के साथ उत्पाद की गुणवत्ता बढ़ाने पर भी है। इससे हरियाणा के किसान आर्थिक रूप से मजबूत होगा और दिल्ली को ताजा उत्पाद मिलेंगे।