News Description
गीता महोत्सव सरकार की कमाई का जरिया : डॉ. अशोक तंवर

पानीपत : सरकार का उद्देश्य ही लोगों को धर्म व जाति के नाम पर बांटना है। गीता महोत्सव को सरकार ने कमाई का जरिया बना लिया है। उत्सवों में कई स्थानों पर लोग आम आदमी को 600 रुपए की कीमत में भी गीता बेचते दिखाई दिए। हलवाई हट्टा में बृहस्पतिवार को चिमन कचौड़ी वाले की दुकान पर मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने यह कहा।

डॉ. तंवर ने सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी की गलत एंट्री किए जाने की बात को सरकारी को छोटी मानसिकता का परिचायक बताया। उन्होंने ताऊ देवी लाल पार्क की हालत को खराब बताते हुए पार्क के रखरखाव में बरती जा रही लापरवाही पर निशाना साधा। उन्होंने सरकार के जीएसटी लागू करने, नोटबंदी का गलत फैसला तथा युवाओं को रोजगार देने में सरकार को अक्षम ठहराया। पानीपत के वातावरण को प्रदूषित व आम जनता के लिए हानिकारक बताया।

डॉ. अशोक तंवर हलवाई हट्टे पर चिमन कचौड़ी वाले की दुकान में पहुंचे। पुड़ियां भी छानीं। पूर्व मंत्री बिजेंद्र कादियान व अन्य कार्यकर्ताओ के साथ कचौड़ी का स्वाद भी लिया। चिमन कचौड़ी की 150 साल पुरानी दुकान की बात सुन हैरत में पड़ गए। सुभाष एंड संस के मालिक ने उन्हें हुक्का भेंट किया।