News Description
गिरोह बताने पर गुस्साए पंचकूला के प्रॉपर्टी डीलर

पंचकूला : पिछले दिनों हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कार्यालय में सीएम फ्लाइंग स्कवायड की रेड के बाद प्रॉपर्टी डीलरों में दहशत फैली हुई है। प्राधिकरण के कार्यालय में 23 नवंबर के बाद किसी भी फाइल को साइन करने से कर्मचारी और अधिकारी घबराने लगे हैं, जिसके चलते काम लटक गए हैं। प्रॉपर्टी डीलर भी पूरी तरह बेरोजगारी की कगार पर आ कर खड़े हो गए हैं।

डीलरों को एक गिरोह की तरह पेश करने के चलते हरियाणा स्टेट प्रॉपर्टी डीलर वेलफेयर एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल सीएम फ्लाइंग स्कवायड के प्रभारी आईजी अनिल कुमार राव से मिला और उन्हें पूरी स्थिति से अवगत करवाया। एसोसिएशन के प्रधान सुरेश अग्रवाल, वरिष्ठ पदाधिकारी शिव पवार, ओपी ओबराय, सुनील साहनी, आरके अरोड़ा एवं अन्य प्रॉपर्टी डीलरों ने राव को बताया कि पंचकूला का प्रोपर्टी डीलर पूरे देश में एक स्वच्छ छवि वाला डीलर माना जाता है, जिसका कोई भी क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है। यदि किसी प्रोपर्टी डीलर ने कोई प्रोपर्टी गलत तरीके से ट्रांसफर करवाई तो हम उसका पुरजोर विरोध करते हैं। उसके खिलाफ कार्रवाई अवश्य होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि डीलरों को एक गिरोह की तरह पेश करने से उनका मनोबल काफी गिर रहा है। शिव पवार ने कहा कि राकेश ढाडा लोगों के छोटे-मोटे काम करवाता था, वह कोई डीलर नहीं है। उसका डीलर एसोसिएशन में कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है वह लोगों की फीस जमा करवाने न्यूज क्लियर करवाने जैसे छोटे छोटे काम करता था जिसे पुलिस द्वारा पिछले दिनों हुडा कार्यालय से गिरफ्तार किया गया है।

उसका डीलर एसोसिएशन से कोई भी संबंध नहीं है। इसके बाद आईजी अनिल कुमार राव ने आश्वासन दिया कि किसी भी प्रॉपर्टी डीलर या व्यक्ति को केस में घबराने की जरूरत नहीं है। यदि किसी व्यक्ति या प्रॉपर्टी डीलर को जाच में बुलाने की आवश्यकता होगी तो उसे विधिवत तरीके से नोटिस देकर बुलाया जाएगा। किसी के साथ अन्याय नहीं होगा। वही पत्रकारों से बातचीत करते हुए सुरेश अग्रवाल और शिव पवार ने कहा कि यदि हुड्डा द्वारा पूरा सिस्टम ऑनलाइन कर दिया जाए, तो किसी को भी पैसे लेने देने की जरूरत नहीं पड़ेगी