News Description
शोभायात्रा के साथ जन-जन तक पहुंचाया गीता का ज्ञान

शहरके जहांआरा बाग स्टेडियम गीतापुरम में पिछले तीन दिनों से चल रहा गीता महोत्सव का गुरुवार को नगर शोभा यात्रा सांस्कृतिक संध्या के साथ समापन हो गया। सांस्कृतिक संध्या समापन समारोह के मुख्य अतिथि लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह रहे। गीतापुरम में आयोजित सांस्कृतिक संध्या में बाहर से आए कलाकारों, सरकारी निजी स्कूल के बच्चों ने अपनी प्रतिभा से मंच भव्य बनाया। तीन दिनों तक चले इसे महोत्सव में कला, संस्कृति और संस्कार का अनूठा संगम रहा। 

गीतापुरम में गीता महोत्सव के रंगारंग कार्यक्रम के अंतिम दिन लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलित कर किया। सांस्कृतिक संध्या से पहले उन्होंने जहांआरा बाग स्टेडियम में गीता महोत्सव के लिए विशेष तौर पर तैयार किए गए गीता पुरम में प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उपायुक्त सोनल गोयल ने संस्थानों जिलावासियों का आभार प्रकट किया। मुख्य अतिथि और उपायुक्त ने गीता महोत्सव के दौरान गीता पर आधारित आयोजित रंगोली, निबंध लेखन, श्लोक उच्चारण पेंटिंग के विजेता छात्रों, महोत्सव में सराहनीय भागीदार बने सामाजिक, धार्मिक शिक्षण संस्थाओं के प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया। 

सांस्कृतिक संध्या में लोक गायक प्रदीप कुमार ने गीता सार को संगीतमय प्रस्तुति दी। इसके बाद एसआर सेंचुरी बहादुरगढ़ के बच्चों ने गणेश वंदना,आरईडी स्कूल झज्जर के विद्यार्थियों द्वारा, निफा से सुनील कौशिक की टीम, लोक कलाकार वेद दमन, प्रवीण वर्मा, नरेश कुंडू पार्टी ने हरियाणवी नृत्य, अमन सैनी ग्रुप ने दशावतार को पेश किया। 

मंत्री नरबीर ने पूछा- आर्गेनिक फल की क्या पहचान है, जवाब नहीं दे सका कोई कर्मचारी 

लोकनिर्माणविभाग मंत्री राव नरवीर गीता महोत्सव के दौरान जब यहां लगी प्रदर्शनी का अवलोकन कर रहे थे। तब वे बागवानी विभाग द्वारा लगाई गई स्टॉल पर आए। यहां आर्गेनिक रूप से तैयार अमरूद और खीरे रखे हुए थे। मंत्री नरवीर ने खीरा उठाकर विभाग के मौजूद दो युवा कर्मचारियों से पूछा कि ऑर्गेनिक फल की क्या पहचान है। मैं इसे खरीद रहा हूं तो कैसे पता चलेगा कि ये आर्गेनिक है। मंत्री का ये सवाल सुनकर हॉर्टीकल्चर विभाग के दोनों कर्मचारी सकपका गए और कोई जवाब नहीं दे सके। उनकी स्थिति देख मंत्री भी असंतुष्ट होकर आगे बढ़ गए। इस स्टाल पर खेड़ी खुम्मार के किसान शिवराज के अमरूद और पाटौदा के किसान अशोक के उगाए खीरे रखे थे। 

विधायक कौशिक ने दिखाई नगर शोभायात्रा को हरी झंडी 

बहादुरगढ़से विधायक नरेश कौशिक ने गुरुवार की सुबह शहर के कुलदीप सिंह चौक से नगर शोभा यात्रा को शहर के लिए रवाना किया। नगर शोभा यात्रा में सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की सांस्कृतिक मंडली के साथ ही गुरुकुल झज्जर के आर्य वीर 101 बच्चों द्वारा श्लोकोचारण कर रहे थे। यात्रा में गुरुकुल झज्जर के विद्यार्थियों द्वारा तलवार बाजी, भाला लाठी चलाने के अंदाज सहित अन्य हथियारों की कलाबाजी की। नगर शोभा यात्रा में दुर्गा मंदिर समिति और प्रजापिता ब्रह्मकुमारी की मनमोहक झांकियां भी आकर्षण का केंद्र बनी रही। इस्कान बहादुरगढ़ की टीम ने नगर शोभा यात्रा के दौरान निरंतर संगीत से साथ गीता का संदेश दिया। शोभा यात्रा कुलदीप सिंह चौक से शुरू होकर पुरानी अनाज मंडी, मेन बाजार, डायमंड चौक, अंबेडकर चौक से होते हुए पुराना अड्डा मार्ग से गीतापुरम जहांआरा बाग स्टेडियम में पहुंची। एसएफएस बिरधाना स्कूल की बैंड टीम ने यात्रा की अगुवानी की। शहरवासियों ने नगर शोभा यात्रा का जगह -जगह स्वागत किया रोटरी क्लब झज्जर की ओर से नगर शोभा यात्रा का स्वागत किया गया। क्लब के प्रधान उदयभान पूनिया,जसवंत देशवाल, डा. नरेश दलाल,डा. राकेश गर्ग, एमएस गुलिया,संतलाल बुद्धिराजा,मुकेश कुमार,परमेंद्र अनीश मौजूद रहे।