News Description
गीता महोत्सव के तीसरे दिन विधायक ओमप्रकाश यादव ने कलश यात्रा को किया रवाना

नारनौल, 30 नवंबर। गीता महोत्सव के तीसरे दिन आज चामुंडा देवी मंदिर से विधायक ओमप्रकाश यादव ने श्रीमदभागवत गीता पूजन एवं हवन के बाद पालकी व कलश यात्रा को रवाना किया। यहां ठीक 12 बजे एक साथ गीता श्लोकोच्चारण भी हुआ। इस मौके पर उपायुक्त डा. गरिमा मित्तल भी मौजूद थी।
इस मौके पर विधायक ने कहा कि श्रीमदभागवत गीता भगवान श्री कृष्ण के मुख से निकला वह अमर संदेश है जिसको सुनकर कुरुक्षेत्र की युद्धभूमि के मध्य मोहग्रस्त अर्जुन अवसाद भरी स्थिति से उबरकर धर्मयुदध के लिए तैयार हो जाता है। इसी तरह गीता का संदेश आज भी उतना ही प्रासंगिक है जब हर रोज अनगिनत अर्जुन जीवन के रणक्ष़ेत्र की चुनौतियों से पलायन कर निराशा भरा कुंठित जीवन जीने के लिए अभिशप्त है। आज के युग में इसी अवसाद भरी दशा से उबारने में भी गीता का संदेश उसे सही राह दिखाता है।
चामुंडा देवी मंदिर से शुरू हुई यह यात्रा शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए सभागार भवन पहुंची। यात्रा के आगे-आगे ढोल, बीन व बाजे की टोलियां चली। इसके पीछे महिलाओं का जत्था कलश लिए निकला तथा उसके पीछे श्रीमदभागवत गीता का रथ रवाना हुआ। 
शहर में इस यात्रा का जगह-जगह पर स्वागत किया। श्री कृष्ण कृपा सेवा समिति के सदस्यों की देखरेख में चली यह शोभा यात्रा तीन घंटे के बाद सभागार में पहुंची।