News Description
दो घंटे तक 18 हजार 16 बच्चे करेंगे गीता के 18 श्लोकों का उच्चारण

गीताजयंतीके इतिहास में एक बार फिर से एक रिकार्ड बनने जा रहा है। एक साथ 18 हजार बच्चे अष्टादश गीता श्लोकोच्चारण कर जहां गीता की सार्थकता सिद्ध करेंगे। वहीं गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड का भी हिस्सा बनेंगे। जयंती से एक दिन पहले ही थीम पार्क गीता के श्लोकों से गूंज उठा। मौका था बुधवार को सामूहिक गीता पाठ की रिहर्सल का। 18016 बच्चों ने एक साथ दो घंटे तक गीता श्लोकों को गाकर रिहर्सल की। विधायक सुभाष सुधा और डीसी सुमेधा कटारिया की देखरेख में रिहर्सल हुई। 

आरएसएस के सह विभाग कार्यवाह डॉ. प्रीतम सिंह श्लोकों का उच्चारण करवाया। गुरुवार को सामूहिक गीता पाठ में 18 हजार 16 विद्यार्थी हिस्सा लेंगे। एक हजार शिक्षक इन बच्चों के साथ पहुंचे हैं। कार्यक्रम को लेकर पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही थीं। स्कूलों में ही इन बच्चों को गीता श्लोकोच्चारण कराया जा रहा था। हालांकि यहां सभी बच्चों को अष्टादश गीता श्लोकों की बुकलेट भी दी जाएगी। उक्त बुकलेट केडीबी ने छपवाई हैं। हालांकि गीता श्लोकों का चयन जीओ गीता के संस्थापक स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कराया है। सामूहिक गीता पाठ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय मंत्री उमाभारती, रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन के अलावा कई मंत्री विधायक भी शामिल होंगे। 

कुरुक्षेत्र | गीताजयंती महोत्सव गुरुवार को संपन्न होने जा रहा है। समापन पर कई भव्य कार्यक्रम होने हैं। कई वीवीआईपीज शिरकत करेंगे। ऐसे में सुरक्षा ट्रैफिक मैनेजमेंट भी पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती से कम नहीं है। इसे देखते हुए पुलिस ने बुधवार को लोगों के लिए अपील जारी की। कुरुक्षेत्र पुलिस प्रशासन द्वारा आम जन से यह अपील की कि 30 नवम्बर को गीता महोत्सव के समापन समारोह पर काफी संख्या में अति महत्वपूर्ण व्यक्ति तथा लाखों पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद है। लिहाजा बिना काम वाहन लेकर सड़कों पर उतरने से बचें। जरूरी होने पर ही वाहन लेकर बाहर निकलें। एसपी अभिषेक गर्ग ने कहा कि पुलिस प्रशासन ट्रैफिक को लेकर पूरी तरह से गंभीर है।