News Description
दनौदा के लोगों को नहीं मिल रहा रोडवेज रात्रि सेवा का लाभ

-चंडीगढ़हाईवे पर स्थित दनौदा गांव के लोगों को इन दिनों परिवहन विभाग की रात्रि बस सेवा का लाभ नहीं मिल रहा है। जिससे ग्रामीणों में रोष है। बुधवार को ग्रामीणों ने कहा कि गांव के लोग अपने काम-धंधों के लिए दूसरे शहरों में जाते हैं और कुछ लोग बाहर शहरों गांवों से दनौदा गांव में नौकरी करने के लिए आते हैं। लेकिन जब शाम 6 बजे के बाद दनौदा गांव के बस स्टैंड पर लोग बसों का इंतजार करते हैं तो एक भी बस नहीं पहुंचती। बल्कि वे सीधे बाईपास हिसार या चंडीगढ़ के लिए निकल जाती हैं। जिससे दनौदा गांव के लोगों को रात के समय में छोटे वाहनों के पीछे लटककर मजबूरन सफर करना पड़ता है। 

ग्रामीण धर्मपाल, बिंद्र , सत्यवान, कुलदीप, संदीप, महाबीर, भलेराम ने बताया कि फोरलेन बाईपास बनने से पहले तो सभी बसें दनौदा गांव के बस स्टैंड पर रुककर जाती थीं, लेकिन बाईपास बनने के बाद एक-एक करके शाम 6 बजे के बाद आने वाली सभी बसें बाईपास निकल जाती है। जिससे ग्रामीणों में विभाग के प्रति रोष है। ग्रामीणों ने कहा कि रोडवेज के ड्राइवर जान-बूझकर ऐसा कर रहें हैं। क्योंकि सरकार ने तो ऐसा कोई निर्देश जारी नहीं किया। ग्रामीणों की मांग कि रोडवेज विभाग के अधिकारी इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए रात्रि बस सेवा का लाभ दनौदा गांव के लोगों को पहुंचाएं। ग्रामीणों ने कहा कि अगर समय रहते ग्रामीणों की इस समस्या का समाधान नहीं किया गया तो ग्रामीण सरकार विभाग के खिलाफ आंदोलन शुरू करने को मजबूर होंगे। 

ग्रामीणों ने शिकायत नहीं दी : प्रबंधक 

^दनौदागांव में बनी इस समस्या को लेकर गांव के किसी भी व्यक्ति ने कोई शिकायत नहीं की है। अगर कोई व्यक्ति शिकायत करता है तो उसकी समस्या को विभाग के उच्च अधिकारियों से बात करके दूर किया जाएगा। शिकायत के बिना हम कोई कार्रवाई कैसे कर सकते हैं।' -दलीपसिंह, प्रबंधक, बस स्टैंड नरवाना।