News Description
राम रहीम के काई राज बेपर्दा, सरकार के तख्ता पलट की रची थी साजिश

 गुरमीत राम रहीम की गोद ली बेटी हनीप्रीत ने बड़ी साजिश रची थी। पंचकूला में हिंसा और देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार हनीप्रीत के खिलाफ चार्जशीट के साथ दाखिल डिस्क्लोजर रिपोर्ट में कई राज बेपर्दा हो गए हैं। चार्जशीट में इस बात का जिक्र है कि डेरा प्रमुख को भगाने के हरियाणा सरकार का तख्ता पलट करने की भी साजिश रची गई थी। इस साजिश में गुरमीत राम रहीम भी शामिल था। इसके लिए कई लोगों की ड्यूटी लगाई गई थी।

डिस्क्लोजर रिपोर्ट के अनुसार, सीबीआइ की विशेष अदालत ने जैसे ही डेरा प्रमुख को दोषी करार दिया, हनीप्रीत ने अपने ड्राइवर राकेश को इशारा किया। इसके बाद अभिजीत के माध्यम से संगत को भड़काकर पंजाब और हरियाणा में आगजनी करवाई गई। डेरे की ब्लैकमनी भी उपद्रव के लिए खर्च की गई है। राकेश के नाम पर 51 लाख और सवा करोड़ रुपये चमकौर सिंह को पंचकूला में आगजनी के लिए दिए जाने की बात भी सामने आई है।

डिस्क्लोजर रिपोर्ट कहा गया है कि 25 अगस्त को डेरा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ यौन शोषण मामले में फैसले से पूर्व प्रशासन, राजनीतिक और ज्यूडिशयरी पर दबाव बनाने के लिए पंचकूला में लोगों को जमा किया गया था, ताकि डेरा प्रमुख के खिलाफ आदेश न सुनाए जाने का माहौल बन जाए।

डिस्क्लोजर रिपोर्ट के अनुसार, पंचकूला के एक व्यक्ति की ओर से जनहित याचिका दाखिल करने के बाद हाईकोर्ट ने डेरा प्रमुख को आदेश दिया था कि वह पंचकूला से अपने अनुयायियों को हटाए। साथ ही पुलिस से कहा था कि इन अनुयायियों को पंचकूला से खदेड़ा जाए।

रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की सख्ती से डेरा प्रमुख घबरा गया था। डेरा प्रमुख ने न्‍यायपालिका की आंखों में धूल झोंकने के लिए एक वीडियो 23 अगस्त की रात को बनाकर भेज दिया। इसमें वह लोगों से कह रहा था कि डेरा प्रेमी पंचकूला से चले जाएं। लेकिन डेरे के प्रमुख लोगों को आदेश दिए गए थे कि वीडियो पर विश्वास न करें और पंचकूला में डटे रहें।