News Description
दिल्ली ट्रेड फेयर में खूब बिके झज्जर के बैग, अब सूरजकुंड में मचाएंगे धूम

 दिल्लीमें 14 से 27 नवंबर तक लगे इंटरनेशनल ट्रेड फेयर में एक स्टाल झज्जर के खाते में आई। इस स्टाल पर झज्जर की कविता और उसके ग्रुप की सात अन्य महिलाओं द्वारा हाथों से बने सूती कपड़े के बैग की ओर टूरिस्ट्स का रुझान रहा। झज्जर स्टाल पर 1 लाख 32 हजार रुपए के बैग बिके। आजीविका मिशन की ओर से लगाए गए इस स्टाल की कामयाबी के बाद कविता को विश्वास है कि फरवरी माह में लगने वाले सूरजकुंड मेले में भी उसके बैगों का स्टाल लगेगा।

इसके लिए कविता ग्रुप ने बैग तैयार करने शुरू कर दिए हैं। मूलरूप से भदाना गांव की कविता प|ी प्रीतपाल ने बताया कि वो आजीविका मिशन से तीन साल पहले जुड़ी और जब उसे पूरी कार्यप्रणाली समझ आई तो गांव की अन्य सात महिलाओं को भी जोड़ा। अब उनका ये स्वयं सहायता समूह हाथ से बने सूती कपड़े के मजबूत बैग बना रहा है। ये बैग रखने में काफी आसान है और सामान भी काफी जाता है। कविता ने कहा कि ग्रुप की सभी महिलाएं पहले घर के कामकाज में ही अपना जीवन बिता रही थी,लेकिन अब घरेलू कामकाज के अलावा वे एक -दूसरे की आर्थिक मदद भी कर रही हैं,इससे परिवार के हालात काफी हद तक बदले हैं। इस ग्रुप ने हिमाचल के चंबा में 40 हजार रुपए के बैग बेचे थे।