News Description
ठंडक बढ़ी, विशेषज्ञ दे रहे एहतियात बरतने की सलाह

यमुनानगर : ठंडक लगातार बढ़ रही है। इससे मंगलवार को अधिकतम तापमान 24 और न्यूनतम आठ डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया जा रहा है। सुबह हल्का कोहरा भी छाया रहा। विशेषज्ञ के मुताबिक आगामी दिनों में ठंड बढ़ेगी। चिकित्सकों के मुताबिक ऐसे मौसम में लापरवाही स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकता है, इसलिए एहतियात बरती जानी जरूरी है। ठंड बढ़ने से गर्म कपड़ों का बाजार भी खुलने लगा है।

चिकित्सकों के मुताबिक ठंड का असर ओपीडी पर भी देखा जा रहा है। अस्थमा के रोगियों की संख्या में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। अस्पतालों में ओपीडी के दौरान सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार से ग्रसित मरीजों की संख्या में दिनोंदिन इजाफा देखा जा रहा है। चिकित्सकों का कहना है कि ठंड हेल्थी सीजन माना जाता है, लेकिन बच्चों और बुजुर्गो को ठंड से बचाव की जरूरत होती है। ठंड लगने पर इनको अधिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

चिकित्सकों के मुताबिक सुबह सैर के समय गर्म कपड़े पहनें, क्योंकि सुबह-शाम काफी ठंड होती है। उनके मुताबिक ठंड के बढ़ने के साथ ही वायु में नमी आने लगती है। हल्की नम वायु के साथ धुएं और धूल के कण भी सांस नली में चले जाते है, जो अंदर जाकर सांस नली में जम जाते हैं तथा फेफड़ों को प्रभावित करते है। इस स्थिति को ब्रोनक्राइटस कहते हैं। इसमें मरीज को छाती में जकड़न, नजला खांसी, बलगम का आना, सांस फूलना, आदि समस्या होने लगती है, इसलिए एहतियात जरूरी है।