News Description
धर्म नहीं सुगम, सहज जीवन का मार्ग है गीता : सिदप्पा

गीता श्री कृष्ण भगवान के मुख से निकला वह ब्रह्मज्ञान है, जो द्वंद्ध में फंसे एक शिष्य को गुरू ने दिया था। गीता जीवन का समाधान है। प्रत्येक व्यक्ति को अपनी व्यक्तिगत, सामाजिक और आत्मिक समस्या का हल गीता से मिल सकता है। दादरी के शहीद दलबीर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में प्रथम अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव का शुभारंभ करते हुए उपायुक्त विजय कुमार सिदप्पा ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि गीता एक पावन और कर्मयोगी जीवन के लिए भगवान का दिया गया उपदेश है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि श्री कृष्ण ने इसमें अपने शिष्य को ज्ञान तो दिया है, लेकिन उसे इसको मानने के लिए बाध्य नहीं किया है। श्रीमद् भागवत गीता के अनुसार मनुष्य को निष्काम भाव से कर्म करना चाहिए। उपायुक्त ने कहा कि दुनियाभर के विश्वविद्यालय में हिन्दू धर्म ग्रंथों को बड़े मनोयोग के साथ पढ़ा जाता है। श्रीमद् भागवत गीता जीवन के प्रत्येक क्षण में समसामयिक है। उन्होंने गीता महोत्सव के बेहतर आयोजन के लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों और महोत्सव में भाग ले रहे स्कूली बच्चों व धार्मिक तथा सामाजिक संस्थाओं को बधाई दी। गीता यज्ञ के साथ इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। उपायुक्त ने विधिवत रूप से यज्ञ में पूर्ण आहुति अर्पित की। इसके बाद दीप प्रज्जवलित कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उपायुक्त ने कहा कि दादरी जिला के प्रत्येक नागरिक के लिए गीता महोत्सव का आयोजन गर्व और हर्ष की बात है। हर साल गीता महोत्सव और अधिक भव्यता की ओर बढ़ रहा है।

------------

सांस्कृतिक कार्यक्रमों से बांधा समां

गीता महोत्सव में एसडीएम ओमप्रकाश और नगराधीश मनीष फौगाट भी उपायुक्त के साथ मौजूद थे। उन्होंने उपायुक्त को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। महोत्सव में विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों ने अपनी मनभावन प्रस्तुतियों से समां बांध दिया। वैश्य वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों ने श्री कृष्ण नृत्य, आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं ने नारी शक्ति, बेस मॉडल की छात्राओ ने हरियाणवी नृत्य और राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गांव चरखी की छात्राओं ने भक्ति रंग में डूबा लोक गीत प्रस्तुत किया। समारोह में सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग, श्री कृष्ण कृपा समिति, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी, पंतजलि योग समिति, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य इत्यादि विभागों की प्रदर्शनी बेहद आकर्षक रही। हजारों स्कूली छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। समारोह स्थल के मुख्य द्वार पर नगाड़ावादको और बीणवादको ने अतिथियों का अपनी स्वर लहरियों से स्वागत किया।

---------

ये रहे उपस्थित

जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी धर्मबीर यादव, खंड शिक्षा अधिकारी जयप्रकाश सभ्रवाल, प्रकाश फौगाट, प्राचार्य सुरेश यादव, धर्मबीर ¨सह, जिला समाज कल्याण अधिकारी केएल शर्मा, कल्याण अधिकारी दीपिका, कार्यकारी अभियंता जितेन्द्र हुड्डा, विकास राणा, रणबीर यादव, वासुदेव आंनद इत्यादि समारोह में मौजूद थे।