News Description
गुप्ता की नियुक्ति मामले पर बोले विज-सीएम के पास नहीं था विकल्प

चंडीगढ़। पूर्व आइएएस राजन गुप्ता को हरियाणा रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (हरेरा) की पंचकूला पीठ का अध्यक्ष बनाने का विरोध कर रहे आइएएस डॉ. अशोक खेमका के समर्थन में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी उतर आये हैं। साथ ही उन्होंने यह भी जोड़ा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास कोई विकल्प भी नहीं था।

राजन गुप्ता उस कमेटी के सदस्य रहे हैं, जिसने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा और डीएलएफ कंपनी के बीच हुए भूमि सौदे को क्लीन-चिट दी थी। खेमका के आरोपों पर विज ने कहा कि वह सही हैं, लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास भी तो कोई ज्यादा च्वाइस नहीं थी। चयन समिति ने पैनल में दो अधिकारियों के नाम भेजे और इन्हीं में से एक का चयन करना था।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ट्वीट का जवाब भी विज ने ट्वीट के जरिये ही काव्यात्मक अंदाज में दिया। राहुल ने कविता के जरिये कटाक्ष किया कि गुजरात में पीएम को पसीने आए हुए हैं। जवाब में विज ने कहा, 'पसीना किसका निकलेगा यह तो समय बताएगा। सब जानते हैं कि तू इटली भाग जाएगा। इस देश से तेरा नहीं है कुछ लेना-देना। जितना लूट सकते थे तुमने है लूटा। अब वह मौका दोबारा कभी नहीं आएगा। सब जानते हैं तू इटली भाग जाएगा।'

सुप्रीम कोर्ट द्वारा फिल्म पद्मावती पर बिना फिल्म देखे टिप्पणी नहीं करने की नसीहत पर टिप्पणी करते हुए विज ने कहा कि लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात कहने का हक है। अगर टिप्पणी के लिए भी कोर्ट की मंजूरी लेनी पड़ी तो फिर यह कैसा लोकतंत्र। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा जेड प्लस से घटाकर कम करने पर तेजस्वी यादव के बयान पर उन्होंने कहा कि राजद नेता हताश हो चुके हैं। इनका अपने आप पर कोई नियंत्रण ही नहीं रहा है। राजनीति में ऐसी भाषा कतई ठीक नहीं।