News Description
आम आदमी पार्टी ने केडीबी के बाहर धरना देकर गीता महोत्सव पर उठाए सवाल

आमआदमीपार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के कार्यालय के बाहर ढाई घंटे तक प्रदर्शन कर गीता महोत्सव पर सवाल उठाए। आप कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार पर गीता जयंती के नाम पर लूट और स्वामी ज्ञानानंद पर की जा रही मेहरबानी का विरोध किया। विरोध प्रदर्शन को देखने के लिए सैकड़ों पर्यटक भी केडीबी कार्यालय के बाहर जमा हो गए। वहीं मौके पर पहुंचीं उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने कहा कि 10 दिन के अंदर-अंदर सभी सवालों के जवाब दिए जाएंगे। 

इसपर कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर 10 दिन में उन्हें जवाब नहीं मिला तो वे अनिश्चितकालीन धरना देंगे। इसके बाद ही पार्टी कार्यकर्ताओं ने धरना उठाया। धरना देने वालों में प्रदेश प्रवक्ता विशाल खुब्बड़, लोकसभा संगठन मंत्री सुखबीर चहल, ओम सिंह, सुमित हिंदुस्तानी, शाहाबाद संगठन मंत्री बीर सिंह बोहली, बलराम सिंह, विजय सिंह, मेवा आर्य, मुनीष सारसा, यशोदा सिंह, रविंद्र नलवी, मोहन लाल सैनी और कर्मबीर मथाना मौजूद थे। 

गीताजयंती के बाद देंगे जवाब : उपायुक्तसुमेधा कटारिया ने कहा कि तीन दिसंबर तक सभी गीता जयंती महोत्सव में व्यस्त हैं। इसके बाद जवाब दिया जाएगा, इसके लिए आप की ओर से पूछे गए सवालों को केडीबी को भेजा जाएगा। 

सरकार केडीबी से पूछे ये पांच सवाल 

आपके प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि हम हरियाणा की जनता की ओर से सरकार केडीबी से पांच सवाल पूछ रहे हैं। 

nपहलासवाल सरकार अंतर राष्ट्रीय गीता महोत्सव मना रही है या ज्ञानानंद महोत्सव। 

nदूसरासवाल प्रदेश सरकार, केडीबी और स्वामी ज्ञानानंद के बीच में क्या संबंध है। 

nतीसरासवाल दूसरे प्रकाशकों की गीता 100 से 200 रुपए में उपलब्ध है, लेकिन ज्ञानानंद की गीता 600 रुपए में क्यों खरीदी गई।