News Description
नगर निगम गुरुग्राम में कचरे से ऊर्जा बनाने के संयंत्र लगाने जा रहा है, लेकिन इससे पहले ही लोगों ने

काजला गांव की रहने वाली पूजा की मौत के बाद अग्रोहा थाना पुलिस ने पूजा की मां और भाई रामकुमार के बयान पर लांधड़ी के राजकुमार, राजकुमार की पत्नी कोमल, सुनीता उर्फ बिंटो, पूजा की सास, पति राममेहर, राममेहर के भाई सुरेंद्र उर्फ काला के खिलाफ आईपीसी धारा 306, 34 के तहत मामला दर्ज किया है। सोमवार को सिविल अस्पताल में पूजा के परिजनों के एकत्रित होने पर नायब तहसीलदार हरकेश गुप्ता के सामने पुलिस ने बयान दर्ज किए। परिजनों के बयान के बाद पुलिस ने सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवा मायके पक्ष के लोगों को सौंप दिया। शव का विसरा जांच के लिए भिजवाया गया है।

गौरतलब है कि रविवार दोपहर पूजा के पति ने पूजा की मां को फोन कर कहा था कि पूजा की आग में झुलसने से मौत हो गई है। पूजा के ससुराल पक्ष के लोग सिविल अस्पताल में एकत्रित हुए थे, लेकिन पूजा की मां भाई ने इस मामले में परिजनों के एकत्रित होने पर बयान दर्ज करवाने की बात कही थी। इसके बाद सोमवार को पूजा की मां भाई रामकुमार के बयान पर मामला दर्ज किया है।

भाई बोला-पूजा को जबरदस्ती ले गया था राममेहर 
पूजाके भाई रामकुमार ने बताया कि पूजा 24 नवंबर को अपने पति के साथ लांधड़ी आई थी। अगले ही दिन वह काजला चली गई। वह कुछ दिन और रुकने की बात कह रही थी। मगर उसका पति राममेहर उसे जबरदस्ती अपने साथ ले गया था। उनके घर जाने के आधे घंटे बाद पूजा की मां ने फोन किया था। लेकिन उसके पति ने उसकी बात नहीं करवाई थी। अगले ही दिन उन्हें उसकी मौत की सूचना मिली। पूजा ने कुछ दिन पहले बताया था कि उसका पति झगड़ा मारपीट करता है, लेकिन उसे समझाकर वापस भेज दिया था।

लांधड़ी गांव की पूजा और काजला के राममेहर की चार महीने पहले कोर्ट मैरिज हुई थी। पूजा के भाई रामकुमार ने बताया कि उसकी बहन पूजा चार महीने पहले जुलाई महीने में घर से गायब हुई थी। इस मामले में पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई गई थी। इसके एक महीने बाद पता लगा था कि उसने काजला के राममेहर से कोर्ट मैरिज कर ली है। पूजा के भाई के अनुसार पूजा को घर से भगाने में लांधड़ी के राजकुमार, राजकुमार की पत्नी कोमल, सुनीता उर्फ बिंटो का हाथ था। इन तीनों ने ही उसकी कोर्ट मैरिज करवाई थी। घर से जाने के एक महीने बाद दोनों का पता लगा था। हालांकि पूजा राममेहर के घरवालों ने उनकी शादी काे कबूल कर लिया था।