News Description
बैंक खाते से ऑनलाइन 27 लाख ट्रांसफर, जर्मनी में एनआरआइ को अटैक

अंबाला शहर

करीब 32 साल पूर्व जर्मनी जाकर बसे शहर के कैथ माजरी निवासी राजेंद्र कुमार के बैंक खाते में हेराफेरी कर 27 लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर कर लिए गए। बैंक पासबुक में ब्याज की एंट्री करवाने पहुंची उनकी भांजी को खाते से पैसे गायब दिखे। हेराफेरी का पता चलते ही एनआरआइ को विदेश में पेरालाइज का अटैक पड़ गया, अब हालत खतरे से बाहर है

2011 में आखिरी बार अंबाला आए एनआरआइ ने कचहरी चौक पर स्थित पंजाब नेशनल बैंक में खुलवाए से¨वग खाता नंबर 325500060000001 में 25 लाख 40 हजार 500 रुपये डलवाए। पासबुक सेक्टर-8 निवासी बहन और चेकबुक उन्हें दी थी। प्रत्येक 4-5 माह में पासबुक में ब्याज की एंट्री करवाते थे। 8 फरवरी 2015 को उनकी भांजी एंट्री के लिए बैंक गई तो स्टाफ ने बहाना बनाकर एंट्री नहीं की। कुछ दिनों बाद जब एंट्री हुई तो खाते से 27 लाख रुपये गायब थे। रिकार्ड के अनुसार 29 अप्रैल 2014 को हुई आखिरी एंट्री के समय खाते में 26 लाख 79 हजार 702 रुपये थे। 1 अप्रैल 2014 को 1 लाख 99 हजार अलग-अलग 14 बार, 2 अप्रैल को 7 बार व 30 हजार, उसके बाद छह बार व 22 हजार व 90 हजार निकले गए। यह खाता देवेंद्र के नाम पर था।