# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बनभौरी मंदिर: सरकार के फैसले पर रोष

रेलवेरोड स्थित हनुमान मंदिर में उचाना शहर सहित आसपास के गांवों से माता बनभौरी के श्रद्धालु एकत्र हुए। इसमें सीएम मनोहरलाल की अगुवाई में कैबिनेट मीटिंग में माता बनभौरी मंदिर के सरकारीकरण फैसले पर रोष प्रकट करते हुए इसे तुरंत वापस लेने की मांग की। 

मार्केट कमेटी के पूर्व वाइस चेयरमैन रामनिवास दनौदा, संदीप शर्मा उचाना खुर्द, शमशेर मोर ने कहा कि माता बनभौरी में अव्यवस्था के नाम पर सरकार जो मंदिर का अधिग्रहण करना चाहती है, वह गलत है। यहां पर आज तक किसी भी तरह का झगड़े तक का मामला दर्ज नहीं हुआ है तो अव्यवस्था का हवाला देना बिल्कुल गलत है। पिछली सरकार के दौरान कांग्रेस में तो विधानसभा में प्रस्ताव पारित होने के बाद श्रद्धालुओं के विरोध पर यह प्रस्ताव विधानसभा में रद्द किया गया। सरकार को चाहिए कि वो मंदिर अधिग्रहण को लेकर जो फैसला लिया है वो वापस ले। वरना सड़क से संसद तक आंदोलन करने से श्रद्धालु पीछे नहीं हटेंगे। 400 साल से मंदिर में कई परिवार सेवा कर रहे हैं, उसके बाद भी सरकार इस तरह के फैसले ले रही है। यह फैसला पूरी तरह से आस्था के खिलाफ है। बैठक में सुनील उचाना खुर्द, वेदप्रकाश वर्मा, गौरव दनौदा, महाबीर मखंड, सुरेश शर्मा, कृष्ण छातर, बलवान छातर, कुलदीप श्योकंद, सोनू शर्मा, संजय शर्मा, शुभम, रमेश जैन, कालू जैन, सुरेंद्र शर्मा, सुनील दरोली, सूरजमल, संजीव पालवां, मदन मखंड, संजीव काब्रच्छा, दिलबाग डोहाना खेड़ा, अनिल काकड़ोद, काला बुडायन, सुशील शर्मा मौजूद रहे। 

उधर, महाराजा अग्रसेन धर्मार्थ ट्रस्ट के चेयरमैन अशोक गुप्ता ने कैबिनेट की मीटिंग में बनभौरी मंदिर को श्राइन बोर्ड के अधीन करने के फैसले को सराहनीय बताया है। 

उचाना. बनभौरीमंदिर को सरकार के अधिग्रहण करने पर रोष जताते श्रद्धालु। 

जींद | शहरके सामाजिक व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक रविवार को सदाव्रत अन्नक्षेत्र में हुई। इसकी अध्यक्षता व्यापार मंडल के जिला प्रधान ताराचंद जिंदल ने की। बैठक में बनभौरी धाम में श्राइन बोर्ड गठित करने की मांग की गई। इस मौके पर नगर प्रधान ईश्वर बंसल, मार्केट कमेटी उपप्रधान मनीष गोयल, अभा युवा जैन समाज के अध्यक्ष सतीश जैन, महेश सिंगला, जयकुमार गोयल, पार्षद सियाराम गोयल, स्वर्णकार संघ के अध्यक्ष भारत भूषण भारद्वाज, सुनील वशिष्ठ, राजकुमार गर्ग, रामभज गोयल, राधेश्याम बिंदल, भजनलाल, आशुतोष सिंगला आदि मौजूद रहे।