News Description
मिशन एडमिशन : जूनियर के आवेदन में सीनियर विद्यार्थियों की हो रही है कमाई

डिग्रीकॉलेजों में मिशन एडमिशन ने जोर पकड़ लिया है। चूंकि इस बार मामला सारा विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों की पसंद पर टिका है तो ऐसे में कॉलेज भी विद्यार्थियों को रिझाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं, पहले जहां सभी कॉलेजों ने फ्री में आवेदन करवाए तो वहीं अब ऑडियो एवं वीडियो मैसेज के माध्यम से भी अभिभावकों एवं विद्यार्थियों को कॉलेजों की विशेषताओं के जरिए रिझाया जा रहा है। इसके लिए विभिन्न वास्ट्सअप, फेसबुक एवं अन्य सोशल मीडिया पर ग्रुप बनाए गए हैं, जहां मैसेज को भेजकर कॉलेज विजिट की अपील तक की जा रही है। 

सीनियरविद्यार्थियों की एडमिशन के जरिए हो रही है कमाई : इसबार की दाखिला प्रक्रिया ने उन सैकड़ों विद्यार्थियों को भी खुशी प्रदान की है, जिन्हें कॉलेजों द्वारा प्रति घंटे के हिसाब से मानदेय दिया जा रहा है। विभिन्न कॉलेज दाखिला प्रक्रिया में के दौरान विद्यार्थियों के आवेदन फार्म जमा करवाने से लेकर उन्हें कोर्स के संदर्भ में जानकारी प्रदान कर रहे हैं। इसके लिए सभी कॉलेजों ने सीनियर विद्यार्थियों की सेवाएं ली है। इसके लिए उन्हें सौ से लेकर 150 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से दिए जा रहे हैं। 

उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा जारी डिग्री कॉलेजों की दाखिला प्रक्रिया पीजी में जाकर अटक गई है, क्योंकि यूजी के विभिन्न संकाय का अभी तक परिणाम ही शिक्षा विभाग घोषित नहीं कर सका है, ऐसी स्थिति में शिक्षा विभाग एक बार फिर से विद्यार्थियों पर मेहरबान हुआ है और विभाग ने तय किया हैै कि मास्टर कंप्यूटर एप्लिकेशन के लिए इस बार कोई प्रवेश परीक्षा संचालित नहीं की जाएगी। इस संदर्भ में एमडीयू की ओर से सभी संबंधित कॉलेजों को अवगत करवा दिया गया है। विभागीय जानकारी के अनुसार कॉलेजों से हरियाणा स्टेट टेक्निकल एजुकेशन सोसायटी (एचएसटीईएस) की ओर से लिया जाने वाला एंट्रेंस टेस्ट प्रोसेस हटा दिया है। ऐसे में अब स्टूडेंट्स को बीसीए के मार्क्स के आधार पर सीधे एमसीए में एंट्री मिल जाएगी। अब तक उन्हें बीसीए के बाद टेस्ट में मिले ग्रेड के आधार पर एमसीए में एडमिशन का मौका दिया जाता था। बीसीए के बाद एचएसटीईएस स्टेट लेवल पर टेस्ट लेता था, जिसके लिए छात्रों को पहले आवेदन और फिर टेस्ट क्लियर करना होता था। ग्रेड आने वाले छात्रों को ही पसंदीदा कॉलेजों में एडमिशन लेने का मौका मिलता था। 

सोनीपत .कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आॅलाइन आवेदन करती छात्राएं।