News Description
करोड़ों रुपये का सिक्स और फोरलेन बन गया पार्किंग स्थल

यमुनानगर : नगर निगम ने करोड़ों रुपये खर्च कर शहर में सिक्सलेन और फोरलेन सड़कें इसलिए बनवाई थीं, ताकि लोगों को जाम से छुटकारा मिले और वाहनों की रफ्तार बढ़े, परंतु ऐसा नहीं हुआ। सिक्सलेन और फोरलेन पार्किंग स्थल बनकर रह गई हैं। जो वाहन दुकानों के सामने खड़े होने चाहिए, वे सड़क पर आड़े तिरछे खड़े रहते हैं। इससे शहर में प्राय: जाम लगते रहते हैं।

जगाधरी के पुराने सहारनपुर रोड से लेकर रेलवे स्टेशन रोड पर भगत ¨सह चौक तक सड़क पहले फोरलेन थी। वाहनों की संख्या के अनुसर सड़क चौड़ी नहीं थी, इसलिए सड़क पर प्राय: जाम लगा रहता था। लोगों की मांग पर पिछले साल मुख्यमंत्री ने फोरलेन सड़क को सिक्सलेन बनाने की घोषणा की थी। कुछ माह पहले सिक्सलेन का काम पूरा भी कर कर दिया गया। इससे काफी हद तक लोगों को जाम से तो छुटकारा तो मिला, लेकिन पार्किंग न होने से लोग सड़क पर ही अपनी गाड़ियां खड़ी करते हैं। सड़क के दोनों तरफ जो एक-एक लेन बढ़ाया गया था, वह पार्किंग के काम आ रहा है।

कई वाहन तो सड़क के बीच में ही खड़े कर दिए जाते हैं। उनसे हादसा होने का डर लगा रहता है। ट्रैफिक पुलिस भी ऐसे चालकों पर कोई कार्रवाई नहीं करती। पुलिस चौक और चौराहों पर तो यातायात नियम तोड़ने वालों के चालान काटती है, परंतु सड़क पर वाहन खड़े करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं करती है। पुलिस कर्मचारी पीसीआर वैन के अलावा बाइक पर भी गश्त करते रहते हैं, इसके बावजूद वाहन चालकों को कुछ नहीं कहा जाता।