News Description
गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में अग्रसेन पब्लिक स्कूल एवं महाराणा प्रताप स्कूल ने मारी बाजी

भगवान कृष्ण के  मुख से उत्पन्न हुई पावन श्री गीता के जन्मोत्सव पर गीता जयंती महोत्सव में पिछले दो दशक से जयराम विद्यापीठ में भारत साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं जयराम संस्थाओं के परमाध्यक्ष ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी के मार्गदर्शन में राज्य स्तरीय अंतर्विद्यालय सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं का आयोजन होता है। इसी क्रम में प्रतिवर्ष विद्यार्थियों और युवाओं में गीता के प्रति जागृति लेन के लिए गीता पर आधारित श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता का भी आयोजन होता है।

राज्य स्तरीय अंतर्विद्यालय सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं के पहले दिन गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में नन्हे बच्चों और विद्यार्थियों ने इतना स्वच्छ उच्चारण किया कि निर्णायक मंडल और बड़े बड़े विद्वान भी दंग रह गए। सांस्कृतिक प्रतियोगिता का आयोजन कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र ¨सघल ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले दिन गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में अग्रसेन पब्लिक स्कूल की टीम तथा महाराणा प्रताप स्कूल सेक्टर 7 की टीम ने प्रथम स्थान हासिल किया। प्रतियोगिता में यूनिवर्सिटी सीनियर सेकेंडरी स्कूल तथा श्री महावीर जैन स्कूल की टीम ने दूसरा स्थान हासिल किया। ¨सघल ने बताया प्रतियोगिता में विजडम व‌र्ल्ड स्कूल, गुरुकुल कुरुक्षेत्र और सहारा कॉम्प्रिहेंसिव स्कूल ने तीसरा स्थान हासिल किया। प्रतियोगिता में केसरी देवी लोहिया जयराम पब्लिक स्कूल को विशेष पुरस्कार मिला। गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में एस एम बी गीता वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, माउन्ट लिटेरा स्कूल, गीता सह शिक्षा माध्यमिक विद्यालय तथा महाराणा प्रताप स्कूल सिटी ब्रांच ने सांत्वना पुरस्कार हासिल किया। ¨सघल ने बताया इस प्रतियोगिता में 50 से अधिक स्कूलों की टीमों ने भाग लिया। प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल के तौर पर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के संस्कृत विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. विभा तथा असिस्टेंट प्रोफेसर राम चंद्र आर्य ने भूमिका अदा की।