News Description
गोवर्धन पर्वत को अंगुली पर उठाए भगवान श्रीकृष्ण का रूप रहेगा आकर्षण का केंद्र

शहर की दीवान बाल कृष्ण रंगशाला के पास मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। इस बार इस महोत्सव में गोवर्धन पर्वत को अंगुली पर उठाए हुए भगवान श्रीकृष्ण का रूप आकर्षण का केंद्र रहेगा। एडीसी धीरेंद्र खडगटा ने बताया कि खराब मौसम, आंधी-तूफान आने पर भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी अंगुली पर उठा लिया था। लोग बारिश खराब मौसम से बचने के लिए इस गोवर्धन पर्वत के नीचे खड़े हो गए थे। उन्होंने बताया कि छदम रूप में गोवर्धन पर्वत के दर्शक परिक्रमा करेंगे। यहां एक पंडित को बैठाया जाएगा जो मंत्रोच्चारण के बीच परिक्रमा करने वाले लोगों में प्रसाद का वितरण करेंगे। 

रंगकर्मी पवन आर्य, हनीफ अशोक शर्मा के अनुसार यह गोवर्धन पर्वत धान की पराली, बांस अन्य वेस्ट मैटीरियल से तैयार किया जा रहा है। समारोह स्थल पर यशोदा कुंज, विदुर कुटी भी आकर्षण के केंद्र रहेंगे। डीसी की माता कृष्णा देवी ने शुक्रवार को जयंती समारोह स्थल पर जाकर यहां यशोदा कुंज विदुर कुटी इत्यादि बनाने के कार्य में लगे रंग कर्मियों को आवश्यक टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि यशोदा कुंज में भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं को दर्शाने के लिए छोटे-छोटे स्कूली बच्चे पात्र अभिनय के लिए जाने चाहिए। इससे यशोदा कुंज दिखाने के कार्य में व्यवहारिकता जाएगी। उन्होंने यहां घास-फूस से तैयार की जा रही झोपड़ियां अन्य चीजों को देखकर उनमें सुधार करने के सुझाव दिए।