News Description
मॉडल टाउन में चबूतरे तोड़े, सूर्यनगर रोड और दिल्ली हाई-वे की ग्रीन बेल्ट से कब्जे हटाए

प्रशासन की अलग-अलग टीमों ने शुक्रवार को शहर में तीन जगहों से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। मोहल्लों की गलियों से लेकर शहर की मुख्य सड़क और हाईवे पर भी जेसीबी की मदद से कार्रवाई की गई। दरअसल, हुडा की टीम ने लंबे से समय से विवाद का विषय रहे सर्विसलेन व ग्रीन बेल्ट पर किए गए कब्जे को हटवायाहुडा ने जिंदल चौक रोड पर विद्युत निगम द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाया। वहीं सुबह हिसार-सिरसा हाईवे स्थित मिर्जापुर चौक पर ग्रीन बेल्ट की जगह पर जेसीबी चलाकर पिलर और तार लगाने का काम शुरू कर दिया है।

- शहर में चल रहे विकास कार्यों के दौरान शुक्रवार सुबह मॉडल टाउन में चल रहे सड़क निर्माण के दौरान विवाद हो गया। सड़क बनाने के लिए घरों-दुकानों के आगे बने चबूतरे तोड़े गए। इस दौरान कुछ लोगों ने कार्रवाई का विरोध भी किया। जिसके कारण कुछ देर के लिए काम प्रभावित भी हुआ। हालांकि बाद में पार्षद ने मौके पर पहुंचकर विवाद सुलझावाया और गली के निर्माण का काम शुरू करवाया।

ग्रीन बेल्ट पर बनी दीवार और जालियां तोड़ीं
- हुडा ने शुक्रवार दोपहर बाद ग्रीन बेल्ट पर सालों से बने कब्जे को जेसीबी लगाकर ध्वस्त कर दिया। हालांकि यह कार्रवाई हुडा मुख्यालय के आदेश पर की गई, लेकिन इसका मामला हाईकोर्ट में चल रहा है। इस संबंध में 27 नवम्बर को हाईकोर्ट में हुडा को जवाब देना है। कार्रवाई का नेतृत्व हुडा के जेई वीरभान ने किया। उल्लेखनीय है कि जिंदल चौक से सूर्य नगर की ओर जाने वाली सड़क पर विद्युत नगर के साथ लगती ग्रीन बेल्ट पर कई सालों से कब्जा था।

- लगभग 7-8 साल पहले विद्युत निगम प्रशासन की ओर से यहां 6 फुट से ज्यादा की दीवार खड़ी कर दी और उपर तार बांध दिए। इसी तरह हाउसिंग बोर्ड के सामने वाली ग्रीन बेल्ट पर लोहे की जालियां खड़ी कर दी। इस दीवार व ग्रिल के पीछे विद्युत निगम के एमडी, एसई व एक्सईएन की कोठियां बनी हुई हैं।

- क्लब और गेस्ट हाउस भी साथ में हैं। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विद्युत निगम ने दीवार खड़ी कर दी। इस बात की जानकारी हाउसिंग बोर्ड वासी जगदीप काे लगी तो उन्होंने आरटीआई लगाकर इसका स्टेटस जाना। इसमें पता चला कि दीवार बनाना व ग्रिल लगाना गैरकानूनी है।

- जगदीप ने दायर याचिका में कहा था कि सड़क की कुल चौड़ाई 70 फुट है। मगर दोनों ओर विद्युत निगम ने 32 से 35 फुट तक कब्जा कर अतिक्रमण किया हुआ है। जगदीप ने कई बार हुडा में शिकायत दी थी। जब अधिकारियों ने कार्रवाई नहीं की तो हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया। हुडा मुख्यालय को नोटिस मिला तो स्थानीय अधिकारियों ने शुक्रवार को यह कार्रवाई की।

अतिक्रमण हटाकर वन विभाग लगाएगा पौधे
- हिसार-सिरसा राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित मिर्जापुर चौक पर हाईवे प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाया गया। इस मौके पर हाईवे और वन विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। शुक्रवार सुबह हाईवे के डीजीएम अजय कुमार के नेतृत्व में टीम मिर्जापुर चौक पर पहुंची। वहां हाईवे के पास बने खाने पीने के ढाबे और टी स्टाॅल वालों ने रोड पर ट्रक व दूसरे वाहन ग्रीन बैल्ट पर खड़े करवाए हुए थे। इससे न केवल दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है, अपितु उस जगह पर लगाए गए पौधे भी क्षतिग्रस्त हो गए।

- जिला वन अधिकारी डॉ. राजेश वत्स व वन विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। हाईवे की ओर से मौके पर सीमेंट के खंभे व तार लगाने की प्रक्रिया शुरू करवाई गई। इससे पहले जेसीबी से खाई खोदी गई। वहां मौजूद दुकान मालिकों ने हाईवे अधिकारियों से रास्ता मांगने की अपील करते हुए कहा कि उनकी दुकानों, होटलों के आगे रास्ता दिया जाए।

- अधिकारियों से स्पष्ट कहा कि इसके लिए रोहतक मुख्य कार्यालय पर लिखित में आवेदन दें, इसके बाद ही उन्हें रास्ता उपलब्ध कराया जाएगा। मौके पर मौजूद जिला वन अधिकारी डॉ. राजेश वत्स ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग की ओर खाली जमीन वन विभाग को सौंपी गई है, ताकि यहां पौधरोपण किया जा सके। यहां किसी भी तरह का अतिक्रमण सहन नहीं किया जाएगा।