# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बहुउद्देशीय कर्मियों ने सीएमओ कार्यालय पर किया प्रदर्शन

बहुउद्देशीयस्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन के आह्वान पर विभाग के जिलेभर से आए कर्मचारियों ने शुक्रवार को सिविल सर्जन कार्यालय पर धरना दिया और रोष जताते हुए नारेबाजी की। प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला प्रधान पवन ताखर ने की। संचालन प्रेस सचिव कश्मीरी लाल ने किया। कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर सिविल सर्जन को 21 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। 

धरने में राज्य कमेटी की ओर से पहुंचे राज्य महासचिव हरिनिवास मुख्य सलाहकार बलजीत ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरह कर्मचारी विरोधी है। किसान, मजदूर आत्महत्याएं करने को मजबूर हैं वहीं गूंगी-बहरी सरकार किसी की नहीं सुन रही है। जिला प्रधान पवन ताखर ने कहा कि विभाग में ग्रामीण शहरी क्षेत्रों में मूलभूत स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने वाली महिला बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारियों को नाममात्र वेतन प्रदान कर शोषण किया जा रहा है। 25 अगस्त 2015 को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज और एसोसिएशन के बीच बातचीत में कुछ मांगों पर सहमति बनी थी लेकिन इन्हें आज तक लागू नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने समय रहते उनकी मांगों को नहीं माना और उन्हें लागू नहीं किया तो वे 10 दिसंबर को अंबाला में राज्य स्तरीय धरना-प्रदर्शन करेंगे। इस अवसर पर सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान भूप सिंह भड़ोलांवाली, बेगराज, पृथ्वी सिंह बाना, नफे सिंह, सुनीता सेठी, सतबीर कुंडू, जगदीश जांगड़ा, सत्यवंती आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर वरिष्ठ उपप्रधान गुलाब कौर, सुनीता पोटलिया, अनिता वर्मा, सुभाष, भगवान, सुरेन्द्र, अंग्रेज, विनय, विरेंदर, रवि, मुकेश, बिमला आदि मौजूद रहे।