News Description
ट्रैफिक संचालन पर भारी पुलिसकर्मियों की कमी

यमुनानगर : कर्मचारियों की कमी यातायात व्यवस्था पर भारी पड़ रही है। यमुनानगर-जगाधरी की बात की जाए तो एक चौक के हिस्से एक कर्मचारी भी नहीं आता। 12 कर्मचारियों के कंधों पर ट्विनसिटी की यातायात व्यवस्था है। दूसरा 25-30 हजार वाहन हर वर्ष बढ़ रहे हैं। ऐसे में व्यवस्थित यातायात की कितनी उम्मीद की सकती है। इस बात का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

यातायात थाने में 32 कर्मचारियों स्टाफ है। उन्हीं में से क्रेन-एंबुलेंस ड्राइवर, चाला¨नग ब्रांच, कंप्यूटर ऑपरेटर सहित कई पदों पर सेवाएं दे रहे हैं। यातायात व्यवस्था को संभालने के लिए 15-17 कर्मचारी ही फील्ड में रहते हैं। यमुनानगर में चौक की संख्या के लिहाज से एक चौक पर एक कर्मचारी को भी तैनात नहीं किया जा सकता। चौकों पर होमगार्ड जवानों को यातायात व्यवस्था को संभालते हुए देखा जा सकता है। होमगार्ड की संख्या भी अधिक नहीं है। कुल 40 होमगार्ड जिलेभर में सेवाएं दे रहे हैं।

चौक-चौराहों पर हर दिन यातायात के नियमों की अवहेलना हो रही है। लोग रेड लाइट की परवाह किए बगैर क्रॉस करने का प्रयास करते हैं। पुलिस कर्मियों के तैनात न होने के कारण कई बार तो जाम की स्थिति बन जाती है। शहर के मुख्य चौक फव्वारा चौक पर अकसर ऐसा होता है। शाम ढलने के बाद तो चौक लावारिस हो जाते हैं। ऐसे में न केवल हादसे होने की संभावना बनी रहती है बल्कि आमजन को आवागमन के दौरान भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है