# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
कांग्रेस ने ढ़ींगरा आयोग की रिपोर्ट पर साधा निशाना, सुरजेवाला ने उठाए सवाल

चंडीगढ़। कांग्रेस ने एक बार फिर गुरुग्राम के भूमि घोटाला की जांच के लिए गठित ढींगरा आयोग की रिपोर्ट पर सवाल उठाया है। कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हरियाण की भाजपा सरकार ने बदले की भावना से इस आयोग का गठन किया था। आयाेग की रिपोर्ट का इस्‍तेमाल चरित्र हनन के लिए किया गया है। 
सुरजेवाला ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भाजपा सरकार के जस्टिस एसएन ढींगरा आयोग का गठनही गलत तरीके से किया। आयोग की रिपोर्ट का इस्तेमाल कांग्रेस के बड़े नेताओं को बदनाम करने और बदले की भावना के साथ चरित्र हनन के लिए किया गया है।
उन्‍होंने कहा कि जस्टिस ढींगरा आयोग के पक्षपातपूर्ण रवैये के कारण कांग्रेस ने पहले ही साफ कर दिया था कि उसे आयोग की रिपोर्ट स्‍वीकार नहीं है। जस्टिस ढींगरा आयोग का गठन किसी भी तरीके से सही नहीं था आैर जस्टिस ढींगरा अायोग का अध्‍यक्ष नहीं हाे सकते हैं। 
उन्‍होंने कहा कि जस्टिस ढींगरा पहले से गोपाल सिंह चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं और राज्‍य सरकार ने नियमों के खिलाफ ट्रस्ट को जमीन और रास्ता बनाने का पैसा दिया। रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि दा प्रिंटर हाउस प्राइवेट लिमिटिड के निरीक्षक के तौर पर भी ढींगरा ने फायदा लिया। उन्‍होंने कहा कि जस्टिस ढींगरा ने एक साथ दो फायदे लिये। 
उन्‍हाेंने कहा कि ढींगरा ने अपनी पत्नी के साथ विदेश यात्रा पर गए थे और इसका खर्चा कंपनी से भी लिया और सरकार से टीए भी लिया। प्रिंटर कंपनी के वाइस चेयरमैन जगदीप सिंह ने जब ढींगरा की अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर एतराज जताया तब उनको पद से हटाया गया। रणदीप ने कहा दिल्ली हाई कोर्ट से ढींगरा के खिलाफ फैसला आया है। ढींगरा आयोग की रिपोर्ट इसके बाद मान्य नहीं रह जाती और उसे खारिज किया जाना चाहिए।

सुरजेवाला ने कहा कि सरकार ने ढींगरा को जो जांच दी थी, उसके लिए सीएम मनोहर लाल माफी मांगे। उन्‍होंने कहा कि ढींगरा को दिल्ली हाई कोर्ट ने एक मामले में अयोग्य और वित्तीय कुप्रबंधन का जिम्मेवार ठहरा दिया है। ऐसे में हरियाणा सरकार आयोग की रिपोर्ट खारिज करे