# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
नियमों की अनदेखी बनती है अधिकांश हादसों का कारण

पलवल: अवैध कटों से वाहनों को निकालना, बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन तथा चौपहिया वाहन की सवारी करते समय सीट बेल्ट लगाने से गुरेज करना तथा ट्रिपल राइ¨डग करते हुए गलत दिशा वाहन दौड़ाना दुर्घटनाओं को दावत देता है। आए दिन नियमों की उल्लंघना से होने वाली हादसों तथा उनमें जान गंवाने वाले लोगों से भी लोग सबक लेने के तैयार नहीं रहते तथा खुद के साथ-साथ औरों के लिए भी खतरा बनते हैं। पुलिस डायरी पर नजर दौड़ाई जाए तो आधे से अधिक हादसों में यातायात नियमों का उल्लंघन बड़ा कारण बनती है।

पुलिस के लाख प्रयास व सामाजिक संस्थाओं के जागरुकता अभियान मिलकर भी लोगों को यातायात के नियमों की पालना कराने में सक्षम साबित नहीं हो रहे हैं। इसे इच्छा शक्ति का अभाव माना जाए या कानून को ठेंगा दिखाने की कोशिश की कुछ दोपहिया चालक पुलिस नाके को देखकर तो हेलमेट लगा लेते हैं, लेकिन नाका पार करते ही उसे बाइक के पीछे टांग लेते हैं। कुछ ऐसा ही अंदाज बड़ी-बड़ी कारों में चलने वालों का देखा जाता है।