News Description
पैसे की कमी से जूझ रही जिले की गोशालाएं

कैथल: जिले में बनी 17 गोशाला पैसों की कमी से जूझ रही हैं। गोशालाओं की देखभाल और समस्याओं के निदान के लिए बनाया गया गो सेवा आयोग भी धरातल पर फेल नजर आता है। जिले की सभी गोशालाओं में अभी सिर्फ 15 हजार गायों को ही छत मिली हुई है। बाकी छह हजार अभी भी बेसहारा हैं। गोशालाओं के प्रधान से बातचीत में यह बात स्पष्ट हो जाती है कि सरकार सिर्फ दावे ही कर रही है।

ये सिर्फ चंदे और गायों से मिलने वाले दूध के आसरे ही चल रही हैं। हर साल इन गोशालाओं को लाखों रुपये की कमी से जूझना पड़ता है। अगर सरकार गोशाला और गोवंश के लिए संजीदगी से काम करे तो न गाय सड़कों पर ही दिखाई देंगी और न ही उनके इस तरह अपमानित होना पड़ेगा।