News Description
बिना रोजगार परिवार के सामने खड़ा हुआ संकट : बलदेव

यमुनानगर : स्कूलों से निकाले गए अतिथि अध्यापकों को परिवार चलाने के लिए आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। यह बात बृहस्पतिवार को संघ के जिला प्रधान बलदेव शास्त्री ने कही। बृहस्पतिवार को विस अध्यक्ष निवास के बाहर धरने पर संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकार ने अध्यापकों के साथ विश्वासघात किया है। अतिथि अध्यापकों से 12 वर्ष तक कार्य लेने के बाद उनको बाहर निकाल दिया गया। रोजगार नहीं होने के कारण परिवार चलाने में दिक्कत हो रही है। प्रदेश में अब तक 1200 अतिथि अध्यापक निकाले जा चुके हैं। सर्दी बढ़ने के साथ अध्यापकों का जोश बढ़ता जा रहा है। अध्यापकों को रोजगार से निकाले जाने पर वह भाजपा की ¨नदा करते हैं। धरने पर मुकेश, रमेश, धर्मवीर, नितिन, रमेश सैनी पहुंचे। इस मौके पर मीनू गुप्ता, ¨डपल, सुशीला, तर¨वद्र आदि मौजूद रहे।