News Description
सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस, दबने नहीं दी जाएगी किसानों की आवाज : गुर्जर

पूर्वमुख्यसंसदीय सचिव रामकिशन गुर्जर ने कहा कि कांग्रेस खुद अब किसानों के साथ सड़कों पर उतरेगी। उन्होंने कहा कि अब सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुट होने का वक्त गया है। उन्होंने कहा कि केंद्र राज्य सरकार किसानों का उत्पीड़न कर रही है। उनकी मांगों पर विचार करने की बजाय गोलियों लाठियों से उनकी आवाज दबाने का प्रयास हो रहा है। पर कभी उनकी आवाज दबने नहीं दी जाएगी। गुर्जर मंगलवार को कांग्रेस भवन पार्टी नेताओं को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने 24 जून को अम्बाला शहर की अनाजमंडी में प्रस्तावित किसान प्रदर्शन के लिए भी सभी नेताओं को एकजुट होने का आह्वान किया। 

सरकारपर होगा तीखा वार: पूर्वविधायक रामकिशन ने कहा कि किसान प्रदर्शन की अगुवाई खुद राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा करेंगी। मंच से राज्य केंद्र सरकार की नीतियों पर तीखा वार किया जाएगा। गुर्जर ने कहा कि सैलजा पहले ही किसानों के कर्ज माफ करने के लिए सीएम मनोहर लाल को पत्र भेज चुकी हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने से पहले भाजपा ने किसानों से कई वायदे किए थे। फसलों का समर्थन मूल्य देने के साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने का भी वायदा किया था। मौके पर पूर्व विधायक राजपाल भूखड़ी, श्याम सुंदर बत्तरा, अनिल गोयल, दर्शनलाल खेड़ा, चंद्रपाल राणा, राकेश शर्मा काका, सरजंट सिंह, राजेश शर्मा, राजीव शर्मा, रमेश सुल्तानपुर,कुलबीर जुड्‌डा, मनोज जयरामपुर, चौधरी बलजीत सिंह, ठाकुर सिंह,नरपाल गुर्जर, एडवोकेट वेदप्रकाश, ज्ञानचंद, अमरजीत कोहली, कपिल खेतरपाल आदि मौजूद थे। 

यमुनानगर| कांग्रेेसभवन में प्रस्तावित किसान प्रदर्शन को लेकर इक्ट्ठे हुए कांग्रेसी कार्यकर्ता।