News Description
जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण ने मनाया अपना ऐनुएल डे

नूंह: जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण (डालसा) नूंह की ओर से बृहस्पतिवार को प्राधिकरण का एनुएल डे मनाया। सीजीएम ऐके ¨सघल ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। सभी जज अपने निवास से सेशन जज ऐके ¨सघल की अगुवाई में पैदल ही अदालत परिसर पहुंचे।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार ¨सघल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि गरीब से गरीब तबके को सुलभ न्याय मिल सके इसके उद्देश्य को लेकर वर्ष 1987 में लीगल सर्विस अथॉरिटी एक्ट बना। एक्ट में कुछ खामियां दूर करने के बाद 9 नवंबर 1995 को लागू किया गया।

गरीबों और जरूरतमंदों के लिए सरकार बहुत सारी स्कीम बनाती है, लेकिन लोगों में जागरूकता न होने की वजह से इसका वे फायदा नहीं उठा पाते हैं। हर गरीब आदमी को सुलभ न्याय मिल सके इसके लिए लीगल अथॉरिटी की ओर से तीन लाख रुपये तक का मुफ्त में वकील मुहैया कराया जाता है।

इसके लिए जिला स्तर पर जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण (डालसा) काम करती है। उन्होने कहा कि सरकार की स्कीम के तहत बच्चों की पढ़ाई, शादी, बीमारी, सामान खरीदने आदि में मदद मिलती है यहां तक की मौत होने पर भी आर्थिक सहायता दी जाती है। लेबर डिपार्टमेंट में अपना पंजीकरण कराना होता है।