News Description
अवैध खनन कर अरावली की उजाड़ी जा रही कोख

पुन्हाना: सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के बावजूद भी पुन्हाना क्षेत्र के दर्जनों गांवों अवैध खनन कर अरावली की कोख उजाड़ी जा रही है। क्षेत्र में अवैध खनन के पत्थरों से लदे ट्रैक्टर-ट्राली को सरेआम सड़कों पर चलते हुए देखा जा सकता है, लेकिन इसके बाद भी वन विभाग से लेकर खनन विभाग व पुलिस चुप्पी साधे बैठी है।

वहीं लोगों का आरोप है कि खनन का यह सारा खेल वन विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहा है। लोगों ने उपायुक्त अशोक शर्मा से खनन पर रोक लगाने के साथ ही ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

पुन्हाना उपमंडल के बडेढ़, तुसैनी, लु¨हगकला, शाह चौखा सहित दर्जनों गांवों में प्रतिबंध के बाद भी अवैध खनन कर माफिया जहां अरावली के सीने का छलनी कर रहे हैं वहीं ट्रैक्टरों से पत्थरों को भर सरकार को लाखों रुपये के राजस्व को चूना लगा रहे हैं।

अवैध खनन के पत्थरों से मकान बनाने से लेकर रास्तों के निर्माण खुलेआम कराए जा रहे हैं। वही सारे मामले की जानकारी होते हुए भी विभागों के अधिकारी अनजान बैठे हैं।

खनन की काफी शिकायतें मिल रही हैं। इसके लिए समय-समय पर चे¨कग के साथ ही रास्तों को भी खोदा गया है, ताकि वाहन पहाड़ों तक न पहुंच पाए, लेकिन इसके बाद भी खनन जारी है तो अभियान चलाकर इसे रोका जाएगा।