News Description
घरों से मीटर निकालने में भेदभाव का आरोप

घरों से बाहर मीटर निकालने को लेकर निगम पर भेदभाव के आरोप लग रहे है। कुछ प्रभावशाली लोगों के घरों से मीटर बाहर न निकाले जाने के बाद बढ़ रहे रोष के बीच जल्द ही निगम अधिकारियों से मुलाकात की जाएगी। शहर निवासी राजपाल व अन्य लोगों का कहना है कि बिजली विभाग दिन-रात चोरी पकड़ने के बाद संबंधित लोगों पर लाखों रुपये जुर्माना लगा रहा है वही दबंग किस्म के लोगों पर तो नियम भी लागू नहीं हो रहे। सरकार के आदेशानुसार जब सभी के बिजली मीटर घरों से बाहर लगाए जा रहे है तब बिजली कर्मचारियों की मिलीभगत के कारण कुछ घरों में अब भी मीटर अंदर ही लगे है। यह भेदभाव पूर्ण व्यवहार है। इससे तो साफ है कि सभी कानून गरीब आदमी पर ही लागू होते हैं। यदि निगम कार्रवाई से डरता है तो हम भी अपने मीटरों को अंदर लगा लेंगे। जिस कंपनी को बिजली विभाग ने मीटर बदलने का टेंडर दिया उन लोगों ने जमकर लूट मचाई। यदि प्रशासन ने अंदर लगे मीटरों को बाहर नहीं लगाया तो पुरजोर विरोध होगा। इस मुद्दे को लेकर सोमवार को बिजली विभाग के एक्सईएन से मुलाकात की जाएगी।