# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
अफसरों ने हाई कोर्ट से बचाई गर्दन, रोडवेज ने किया चक्का जाम

अंबाला : जीएसटी भले ही अभी लागू नहीं हुआ लेकिन जीएसटी में किए जा रहे टैक्स प्रावधानों को लेकर अंबाला के साइंस उद्यमियों में चौतरफा विरोध है। साइंस कारोबारियों के मुताबिक एक तरफ तो सरकार शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्र को किसी भी प्रकार के टैक्स से मुक्त करने की बात कर रही है और दूसरी और स्कूलों की साइंस लैब व अस्पतालों के लिए उपकरण बनाने वाले साइंस उद्योग पर 28 फीसद तक टैक्स लगा रही है।

ऐसे में जगजाहिर है कि जब साइंस कारोबार पर लगाए टैक्स से ये उपकरण भी महंगे होंगे। जिसका असर निश्चित तौर पर आम आदमी की जेब पर पड़ेगा। जीएसटी में साइंस कारोबार पर मौजूदा सवा पांच फीसद टैक्स के बजाय 28 फीसदी तक टैक्स लगाना कारोबारियों के मुताबिक सही कदम नहीं है।