News Description
गोकशी के खिलाफ की गई पंचायत में चली गोली

 नूंह :गोकशी को रोकने के लिए समाज के लोगों की पंचायत पर रविवार को गोली चलाने का मामला सामने आया है। पंचायत के संयोजक फारुख कैराका ने आरोप लगाया कि नियामत पहलवान नाम का व्यक्ति गोतस्करों की दलाली का काम करता है। आरोप है कि उक्त नियामत ने गोहत्या के खिलाफ होने वाली पंचायत को रोकने के लिए यह वारदात की है। हालांकि गोली किसी को भी नहीं लगी है। लेकिन मामले को लेकर पुलिस को शिकायत दी गई है। पुलिस ने मौका का निरीक्षण कर जांच शुरु कर दी है। खबर लिखे जाने तक पुलिस द्वारा किसी के भी खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है।

26 अक्टूबर को कैराका गांव में समाज की 36 बिरादरियों के जिम्मेदार लोगों की एक महापंचायत की गई थी। इससे पहले 15 अक्टूबर की शाम को कैराका-उजीना रोड पर एक गाड़ी ने दो युवकों को कुचल दिया था, जिसमें रहीश पुत्र हारुण निवासी कैराका की मौत हो गई थी, जबकि सलीम का पैर कट गया था। बाद में पता चला कि जिस गाड़ी से यह घटना हुई, वह चोरी की थी और इसे गोतस्करी व गोकशी के लिए प्रयोग किया जाता है। पंचायत में आरोपियों को भी बुलाया गया, लेकिन वे उपस्थित नहीं हो पाए और रविवार को उन्हें बिरादरी के सामने उपस्थित होने के निर्देश दिए गए। पंचायत यह भी फैसला लिया गया था कि यदि आरोपी रविवार को बिरादरी के सम्मुख पेश नहीं हुए तो फिर 36 बिरादरी के लोगों की एक कमेटी बनाई जाएगी, जो गोकशी व तस्करी करने वाले लोगों की जानकारी पुलिस को देगी और पुलिस के साथ मिलकर इन्हें पकड़वाएगी।

तय कार्यक्रम के मुताबिक रविवार के दिन आरोपियों को पंचायत के समक्ष पेश होना था। पंचायत के संयोजक फारुख ने आरोप लगाया कि जब पंचायत चल रही थी तो उक्त आरोपी खड़ा हुआ और उससे कहा कि तूने यह पंचायत क्यों जोड़ी है। जब वह अपना पक्ष रखने लगा तो आरोपी ने आवेश में आकर उसकी तरफ अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से फायर कर दिया। फारुख कैराका द्वारा मामले की शिकायत जय¨सह पुर चौकी में दी गई