News Description
13 लाख रुपये का बिल नहीं जमा कराने पर कटे स्ट्रीट लाइट कनेक्शन, अंधेरे में पॉश कॉलोनियां


शहरकी वीआईपी कॉलोनियों में विकास की कोई कमी ना रहे इसके लिए हाल ही में सरकार ने हुडा की अधिकृत कॉलोनियों को नगरपरिषद के अंतर्गत करने का फैसला लिया था। इसके बावजूद भी यहां के निवासी मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। नगरपरिषद की ओर से बिल नहीं भरने पर बिजली निगम ने कार्रवाई करते हुए स्ट्रीट लाइट के कनेक्शन काट दिए हैं। इस कारण यहां पर रात को अंधेरा छाया रहता है। निगम ने यह कार्रवाई नगरपरिषद और हुडा को बार बार बिल भरने के आग्रह करने के बाद की है। अब पिछले पांच दिन से इन कॉलोनियों की गलियों में अंधेरा छाया हुआ है। 

बिजली निगम के इंडस्ट्रियल एरिया के एसडीओ रिपिनदीप सिंह चावला ने बताया कि इन कॉलोनियों की स्ट्रीट लाइट का बिजली बिल पिछले एक साल से बकाया है। 36 बार नगरपरिषद अौर हुडा को बिल भरने की बात कह दी, मगर दोनों ही विभाग एक दूसरे पर बिल भरने की जिम्मेदारी डाल देते हैं। बिल कोई नहीं भरता। इस प्रकार अब बिल बढ़कर 13 लाख रुपये हो गया है। इसलिए मजबूरीवश निगम को स्ट्रीट लाइट काटने जैसा सख्त एक्शन लेना पड़ा। उन्होंने बताया कि कुल 11 कनेक्शन काटे गए हैं। इसके अंतर्गत आने वाली गलियों में लगी सैकड़ों लाइट अब बंद हो गई है। 

कनेक्शनकाटने से सुरक्षित नहीं लगता माहौल 

बिजलीनिगम ने शहर के ब्लॉक, ब्लॉक, बी ब्लॉक, सिविल अस्पताल के आसपास का क्षेत्र और रानियां गेट के अंतर्गत आने वाले सभी कनेक्शन काट दिए हैं। इस वजह से यहां की गलियों में अब अंधेरा छा गया है। इस वजह से यहां का माहौल भी सुरक्षित नहीं लग रहा है। गलीवासी रविंद्र, रामचंद्र पन्नी राम कहते हैं कि जिस प्रकार से शहर में चोरी, लूट और डकैती की वारदातें बढ़ रही है। एेसे में अंधेरे का फायदा बदमाश किस्म के लोग उठाते हैं। जल्द से जल्द स्ट्रीट लाइट जलनी चाहिए।