# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
अब घर का कूड़ा करेगा बिजली का उत्पादन

अम्बाला.अभी तक आपके घर से जो कूड़ा उठता था वह सही तरीके से ठिकाने नहीं लगाया जा रहा था। क्योंकि पटवी का ठोस कूड़ा प्रबंधन प्लांट नहीं चल पा रहा था। लेकिन आने वाले समय में आपके घर का कूड़ा बिजली का उत्पादन करेगा। इसके लिए आपको अपने किचन में दो डस्टबिन रखने जरुरुी होगे। तभी डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के तहत आपके घर से कूड़ा लिया जाएगा। यदि आपके किचन में दो डस्टबिन नहीं है जिसमें आप गीला व सूखा कूड़ा एकत्रित नहीं करते है तो निगम आपके घर से कूड़ा नहीं लेगा।
 
हालांकि यह नियम 2016 में लागू कर दिया गया था लेकिन निगम अब इसको सख्ती से लागू करने की तैयारी कर रहा है। इससे पहले पटवी में बने प्लांट के अंदर खाद्य बनाने की योजना थी लेकिन इस बार निगम ने प्लांट के अंदर बिजली बनाने की योजना रखी है। प्लांट में बनने वाली बिजली से जिले में बिजली आपूर्ति को पूरा किया जाएगा।
 
शहर से राेजाना निकलता है 220 टन कूड़ा:शहर में रोजाना घरों व बाजारो से 220 टन कूड़ा निकलता है जिसे डोर टू डोर के तहत पटवी प्लांट में पहुंचाया जाता है। इसमें व्यवसायिक जगहों से निकलने वाला कूड़ा भी शामिल है। हालांकि पटवी में बने प्लांट के बंद होने के कारण वहां कूड़े के पहाड़ बनना शुरु हो गए है। जिससे आसपास के लोग काफी परेशान है। अब देखना यह होगा कि सरकार कब तक इस प्लांट को शुरु कर पाती है।