News Description
संसाधन के अभाव में दम तोड़ रहा स्वच्छता अभियान

फिरोजपुर झिरका : एक तरफ सरकार देशभर में स्वच्छता अभियान चलाकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक कर रही है दूसरी ओर इस अभियान को फिलहाल नूंह जिले में ग्रहण लग रहा है। दरअसल ग्राम पंचायतों में लगे सफाई कर्मियों के पास बीते एक वर्ष से सफाई करने के लिए संसाधन ही नहीं है।

जिससे ग्रामीण कर्मचारियों को ग्रामीण इलाकों की सफाई करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सफाई न होने की वजह से ग्रामीण इलाकों में न केवल वातावरण प्रदूषित हो रहा है बल्कि इससे बीमारियां भी बढ़ रही है।

इसी को लेकर ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान सतीश चंद के नेतृत्व में कर्मचारियों का एक दल खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी से मुलाकात कर उन्हें जरूरी सामान जैसे रेहड़ी, बेलचा, कस्सी और झाडू इत्यादि मुहैया कराने की मांग की। बीडीपीओ ने कर्मचारियों को आश्वासन देकर उन्हें सामान उपलब्ध करवाने की बात कही।

यूनियन के प्रधान सतीश चंद ने बताया कि लंबे समय से ग्रामीण इलाकों में तैनात कर्मचारियों के पास साफ-सफाई के सामान नहीं हैं। इसकी वजह से उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रधान ने डीसी नूंह व बीडीपीओ से कर्मचारियों को जरूरी यंत्र उपलब्ध कराने की मांग की है।