News Description
नशे की गिरफ्त में आ रही युवा पीढ़ी,तंबाकू बिक्री में साठ प्रतिशत का इजाफा

 फिरोजपुर झिरका : जिला तेजी से नशे की गिरफ्त में आ रहा है। जिले में नशा करने वालों की फेहरिस्त काफी लंबी है। युवाओं को नशे की लत में धकेल रहे लोगों की चांदी हो रही है। सूत्रों के मुताबिक क्षेत्र में बीते पांच सालों में तंबाकू उत्पाद के अलावा नशे में इस्तेमाल होने वाली अन्य चीजों की यहां बिक्री में करीब साठ प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

जिले में नशाखोरी के बढ़ते कारोबार की युवा पीढ़ी सबसे ज्यादा शिकार हो रही है। अगर नौजवान पीढ़ी नशे के जाल में उलझती गई और इस पर अंकुश नहीं लगा तो निश्चित यह बीमारी क्षेत्र के युवाओं को खोखला कर सकती है।जिले में नशीले पदार्थो का धंधा इस समय जोरों पर है। पड़ोसी राज्यों से लेकर दूर-दराज के इलाकों से नशीले पदार्थो की तस्करी करने वाले माफिया की इस व्यापार में अच्छी खासी कमाई हो रही है। ऐसे में जिले में बिक रही नशीले पदार्थ और तंबाकू तथा गुटखा सहित अन्य नशीले पदार्थो का क्षेत्र के युवा भारी संख्या में प्रयोग कर रहे हैं। ऐसा नहीं है कि पुलिस विभाग व इसकी रोकथाम के लिए बने विभागों को इसकी जानकारी न हो लेकिन कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है।

फिरोजपुर झिरका, पुन्हाना, नगीना, तावडू और नूंह के अधिकांश इलाकों में लग रहे पान के खोखे व चाय की दुकानों पर खुलेआम नशीले पदार्थो की बिक्री हो रही है। इन दुकानों पर शराब, भांग, धतूरा और दवाओं में इस्तेमाल होने वाले नशीले पदार्थ आसानी से मिल जाते हैं।