News Description
जीरकपुर-पंचकूला सीमा पर विकास को लेकर सीएम खट्‌टर से होगी मीटिंग

पंचकूला का सेक्टर-19 और बलटाना का एरिया है प्रभावित जीरकपुरऔर पंचकूला आपस में सटे हैं। पंचकूला की ओर से नालों से गंदा पानी जीरकपुर सीमा में रहा है। पीरमुच्छल्ला, ढकोली बलटाना का एरिया पंचकूला की ओर से बह रहे गंदे पानी की वजह से प्रदूषित हो रहा है। यहां कई मामले सामने अाए हैं। पंचकूला प्रशासन से पहले भी कई बार मीटिंग की गई, लेकिन कोई भी नतीजा सामने नहीं रहा है। इसलिए, अब सीएम हरियाणा मनोहर लाल खट्टर से मीटिंग करके यहां जीरकपुर और पंचकूला के बीच की जगह पर बेहतर डेवलमेंट करने के बाबत उन्हें जानकारी दी जाएगी। यह बात विधायक एनके शर्मा ने कही। 

कई बार पंचकूला प्रशासन से मीटिंग और मौके पर विकली विजिट भी की, लेकिन नहीं निकला कोई रिजल्ट यहां कई बार दोनों ओर के अधिकारियंा की मीटिंग होने के बाद भी कोई नतीजा फिलहाल सामने नहीं आया है। बलटाना और पंचकूला के सेक्टर 19 के बीच बह रहे नाले को लेकर दोनों ओर के अधिकारियों ने कई तरह की प्लानिंग की बातें की, लेकिन इसका नतीजा कुछ भी नहीं हुआ। पंचकूला से आने वाले गंदा पानी जीरकपुर के कई एरियाें में जा रहा है। इससे इन सेक्टरों के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

सबसे ज्यादा परेशानी बलटाना और सेक्टर-19 के कई घरों में रही है। यहां के एरियों में बारिश के बाद पानी भर जाता है। जब हर साल बरसातें होती हैं ताे बरसाती नालों का भी गंदा पानी इन एरिया में जाता है। इस पानी में घास, कीचड़ से लेकर झाड़ियां तक बहकर जाती हैं। इस कारण यहां के एरिया के लोगों के घराें में भी पानी भर जाता है। पंचकूला प्रशासन के साथ मीटिंग के बाद भी कोई समाधान नहीं हुआ।