News Description
फर्जीवाड़े के दो मामलों में लाखों की ठगी, जाँच में जुटी पुलिस

पलवल : शहर व कैंप थाना क्षेत्रों में दो अलग-अलग मामलों में फर्जीवाड़ा कर लाखों रुपये की ठगी कर ली गई। एक मामले में जमीन देने के नाम पर 15 लाख रुपये ठग लिए गए, तो दूसरे मामले में फर्जी कागजात ट्रांसपोर्ट कंपनी ने लाखों रुपये का माल गायब कर दिया। शिकायतों पर पुलिस मामलों की जांच कर रही है।

कैंप थाने में दर्ज मामले के अनुसार गांव रतीपुर निवासी लेखन का आरोप है कि गांव धामाका निवासी नवल ¨सह से गांव धामाका में स्थित जमीन का सौदा 20 लाख रूपए प्रति एकड़ की दर से हुआ था। 22 अगस्त 2016 को इकरारनामा के समय 15 लाख रूपए नगद दिए थे लेकिन कुछ दिन बाद पता चला की आरोपी ने उस जमीन में से आठ कनाल जमीन को पहले ही ¨मडकौला निवासी रनवीरी को बेच दिया था। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

दूसरे मामले में एएसआई मनोज कुमार के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग को छह लेन करने का काम कर रही लार्सन एंड टर्बो लिमिटिड कंपनी (एलएंडटी) ने गांव आल्हापुर के समीप अपना प्रोजेक्ट आफिस बनाया हुआ है। सिक्योरिटी कंपनी के कर्मचारी मुकेश व र¨वद्र ट्रांसपोर्टर और वजन कांटा आपरेटर के साथ मिलकर फर्जी वजन कांटा पर्ची बनाकर मॉल का गबन करते थे। जो गाड़िया कम्पनी में माल लेकर भी नहीं आती थी उनके भी फर्जी कागजात व वजन पर्ची तैयार करके गबन करते थे। पुलिस ने कंपनी की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।