News Description
ढाई लाख सालाना आय वाले परिवारों को भी शादी का शगुन

पंचकूला : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीरवार को महर्षि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर सेक्टर-12ए स्थित वाल्मीकि भवन में हरियाणा अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग व जिला प्रशासन पंचकूला के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि शिरकत की।

लाल ने कहा कि आदि कवि महर्षि वाल्मीकि जैसे महापुरुषों ने सैकड़ों वर्षो पूर्व देश व समाज को उन्नत बनाने के लिए जातिवाद से ऊपर उठकर एक सूत्र में पिरोने की शिक्षा दी थी और युवा पीढ़ी को उनके प्रशस्त मार्ग का अनुसरण करना चाहिए। तभी देश की एकता व अखंडता को सुदृढ़ कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने महर्षि वाल्मीकि जयंती व शरद पूर्णिमा की प्रदेश के लोगों को बधाई दी। कहा कि पहली बार महर्षि वाल्मीकि जयंती सभी जिलों में 3 से 10 अक्टूबर तक सरकारी स्तर पर मनाई जा रही है। इससे पूर्व संत कबीरदास, रविदास व भीमराव अंबेडकर जयंती भी राजकीय स्तर पर मनाई गई थी जो सामाजिक समरस्ता व भाईचारे का संदेश देती है।

मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों से सरकार द्वारा अनुसूचित जातियों व पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए चलाई जा रही स्कीमों का लाभ उठाने का आह्वान किया चाहे वह मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना हो, छात्रवृत्ति योजना हो या प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक सभी को मकान देने की योजना हो।